अंधविश्वास की दुनिया

238
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जहां हमारा देश लगातार आधुनिक युग में प्रवेश कर रहा है। लोग वैज्ञानिक युग में चांद पर जाने की कल्पना कर रहे हैं। देश में बुलेट ट्रेन चलाए जाने की बातें हो रही है। वहीं पर आज भी बहुत ऐसे लोग हैं जो किसी भी बीमारी को झाड़ फूंक से ही दूर करने का इरादा रखते हैं। कुछ ऐसा ही कैमूर जिले के मोहनिया थाने में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया। जहां दो पक्ष लड़ते-झगड़ते थाने पर पहुंचे, और एक दूसरे पर भूत करने की बात चिल्ला-चिल्लाकर कह रहे थे। भूत करने को लेकर दोनों तरफ से प्राथमिकी दर्ज कराया जा रहा था।

वहीं एक पक्ष दूसरे पक्ष के ऊपर आरोप लगा रहे थे कि गर्भवती महिला की तबियत भूत करने से खराब हुआ है और इनके ऊपर इन लोगों ने भूत कर दिया है। जिसके बाद शोरगुल सुनकर थाना प्रभारी मनोज कुमार पहुंचे और उन्होंने दोनों परिजनों को काफी समझाया। लेकिन कोई पक्ष सुनने को तैयार नहीं हुआ। तब थाना प्रभारी ने पुलिस लगाकर एक पक्ष के बीमार गर्भवती को इलाज के लिए अनुमंडल अस्पताल मोहनिया पहुंचवाया। जहां डॉक्टर इलाज करना शुरू किये, तभी गर्भवती महिला इलाज करवाने से इनकार करते हुए अस्पताल परिसर से बाहर निकल गई और बार-बार अपने आपको झाड़-फूंक कराने की बातें कह रही थी।

वहीं पीड़ित महिला की सास ने बताया कि पिछले 2 दिनों से दूसरा पक्ष मेरे बहू के ऊपर भूत कर दिया है, उसी समय से मेरे बहू की तबियत खराब हो गई। जिससे हम लोग मोहनिया थाना पहुंचे और दूसरे पक्ष पर भूत करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए आए हैं।

वहीं थाना प्रभारी मोहनिया मनोज कुमार सिंह ने बताया कि थाने पर आई गर्भवती महिला काफी कमजोर दिखाई दे रही है। देखने से पता चल रहा है इनके अंदर आयरन की कमी है। इन्हे चिकित्सकीय इलाज कि आवश्यकता है जिससे थाने के पुलिस के साथ अनुमंडल अस्पताल मोहनिया इलाज हेतु भेजा जा रहा है।

गर्भवती महिला के इलाज करने वाले डॉक्टर ने बताया कि महिला की स्थिति खतरे से बाहर है। बहुत कमजोरी है। जिन्हें तुरंत इलाज कराया जा रहा है।