अखलाक अहमद ने पुलिस प्रशासन पर उठाया सवाल

214
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिला के मोहनिया में वीडियो वायरल हुए उपद्रव के मामले में जन अधिकार पार्टी के बैनर तले पूर्व मंत्री अखलाक अहमद और पूर्व विधायक रामचंद्र यादव ने प्रेस वार्ता कर प्रेस के माध्यम से अपनी मांग की है कि अगर इस तरह का उपद्रव हो रहा था यहां के स्थानीय 34 वर्ष से सरकार में रहे हैं जगदानंद सिंह कहां थे, क्यों नहीं आए मोहनिया।

वहीं अखलाक अहमद ने दूसरी मांग अपनी कही इस तरह की वारदात में प्रशासन ने क्यों नहीं उपद्रवियों पर लाठीचार्ज कराया,क्यों नहीं उन्हें रोका गया जब चारों आरोपी गिरफ्तार हो चुके थे तो यहां की पुलिस को क्या कर रही थी। पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाते हुए अखलाक अहमद और रामचंद्र यादव विधायक ने यहां के डीएसपी रघुनाथ सिंह को तुरंत तबादला कर एफ आई आर दर्ज करने तक की मांग कर डाली।

रामचंद्र यादव ने बताया कि रामगढ़ जिस तरह जला था उसी तरह मोहनिया भी जला होता। लेकिन मैं मोहनिया की जनता को धन्यवाद देता हूं कि मोहनिया की जनता ने धैर्य का परिचय दिया। रामचंद्र यादव ने कहा कि सबसे बड़ा दोषी इस मामले का मोहनिया डीएसपी है जिसको की तुरंत यहां से हटाया जाए और उस पर प्राथमिकी दर्ज किया जाए और दोनों पक्ष से अगर गिरफ्तारी नहीं रुकेगी तो जन अधिकार पार्टी सड़क से लेकर संसद तक आंदोलन करेगी। क्योंकि यहां के शहर में रहने वाले लोग प्रशासन से भयभीत हैं।

गिरफ्तारी के डर के मारे घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं, तुरंत सरकार रोक लगाएं और जल्द से जल्द मोहनिया डीएसपी का तबादला करें जिससे कि हमारा शहर सुरक्षित रहें। आज पप्पू यादव को प्रशासन ने पीड़िता से मिलने नहीं दिया क्योंकि पप्पू यादव दूसरे का आंसू पूछते हैं और प्रशासन पीड़िता के परिवार को कहीं छुपा दिया इस तरह की बातें रामचंद्र यादव ने मीडिया के समक्ष बताएं।