अचानक जिंदा हुई लड़की

639
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा – दहेज के लिए हत्या कर लाश गायब करने फिर अचानक लड़की के जिन्दा होने जैसे सनसनीखेज खबर इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है। जी हाँ ये ताजा वाक्या सहरसा जिले के काश नगर ओपी क्षेत्र के लोकना टोला का है। गौरतलब है दहेज के लिए ससुरालवालों पर हत्या कर लाश गायब करने का आरोप लगा वहीँ काशनगर की रहने वाली विवाहिता उषा अभीं जिन्दा हैं। उसका इलाज सहरसा स्थित गायत्री नर्सिंग होम में चल रहा है। जहर खाने से उसकी स्थिति अब भी पूरी तरह सुधर नहीं पायी है।

दरअसल सोनबरसा राज प्रखंड के लोकना टोला स्थित गांव के उमेश ठाकुर एवं उनके पुत्र नीतीश ठाकुर के विरुद्ध मधेपुरा जिला के चौसा निवासी उषा देवी के पिता ने काशनगर ओपी में आवेदन देकर ससुराल पक्ष के लोगों पर दहेज के लिए उषा की हत्या कर लाश को गायब करने की आशंका जताई थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि उषा द्वारा फोन से सूचना दी गयी थी कि उसे जहर खिला दिया गया है। और वह बच नहीं पायेगी। जिसके बाद पुलिस छानबीन में जुट गयी थी। इसी बीच सूचना मिली कि उषा जिन्दा है और उसका इलाज गायत्री नर्सिंग होम में चल रहा है। इलाज के दौरान पता चला कि मरीज की हालत जहरीली चीज खाने से नाजुक हुई है। जिसे तत्काल आईसीयू में रखते हुये इलाज शुरू किया गया है। जहाँ उसकी स्थिति में सुधार हो रही है। हालाँकि वह कुछ बोल पाने की स्थिति में नहीं है।

पुलिस ने नर्सिंग होम में पहुँच कर उसका बयान लेने का प्रयास किया पर वह बोलने की स्थिति में नहीं थी जब वह बोलेगी तब ही सच्चाई सामने आ सकती है। जिससे यह खुलासा होगा कि उसे जहर दिया गया था या फिर खुद वो जहर खा ली थी। इधर पुलिस नर्सिंग होम पहुंचकर तफ्तीश शुरू कर दी है। वहीँ पीड़िता के ससुर ने जहर देने की बातों से इंकार करते हुये कहा कि अचानक पोतहु की हालत ख़राब होने पर उसे आनन-फानन में नर्सिंग होम में भर्ती करवाना पड़ा जहाँ अभी उसकी इलाज चल रही है। उनके ऊपर दहेज और हत्या का मामला थाना में पहुँचने के बाबत पूछा गया तो उन्होंने इससे अनभिज्ञता जताते हुये कहा उन्हें कुछ भी पता नहीं कि उनके विरुद्ध थाना में क्या आवेदन लड़की के परिजनों द्वारा दिया गया हैं।

वहीँ तफ्तीश के लिए पहुंचे पुलिस अधिकारी ने स्वीकार किया कि दहेज के लिए हत्या कर लाश गायब करने का आवेदन आया था। जिसमें तफ्तीश कर मामला दर्ज किया जाता। लड़की के जिंदा मिलने की जानकारी के पश्चात उसकी बयान लेने आये थे पर वह अभी बयान देने की स्थिति में नहीं है। बयान आने के बाद इसकी सच्चाई सामने आयेगी फिर तदानुसार कार्रवाई होगी। फिलहाल लड़की की स्थिति खतरे से बाहर है, इलाज जारी है। लेकिन जिस तरह से लड़की के ससुराल पक्ष पर दहेज के लिए हत्या कर लाश गायब करने का संगीन आरोप लगा वहीँ लड़की के जिन्दा इलाजरत मिलने के कारण इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है।