अब एनडीए के अन्य घटक दलों को यह सोचना है कि उनका अस्तित्व कैसे बरक़रार रहेगा – सदानंद सिंह

136
0
SHARE

पटना – बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने कहा कि भाजपा अपने सहयोगी दलों की पहचान से खिलवाड़ कर रही है| आजकल भाजपा की राजनीति एनडीए के अन्य घटक दलों की पहचान को ख़त्म करने की एकसूत्री कार्यक्रम के रूप में चल रही है| इस बात को टीडीपी, शिवसेना, अकाली दल आदि राजनीतिक दल भलीभांति समझ चुके हैं| जिससे वे भाजपा से पल्ला झाड़ रहे हैं|

उन्होंने कहा कि भाजपा का कार्यक्रम आरएसएस के द्वारा तय किया जाता है| आरएसएस की नीतियाँ आत्मकेंद्रित होती हैं| इसमें सहयोगी दलों की भावना का ख्याल नहीं रखा जाता है| गठबंधन सरकारों की भी चिंता नहीं की जाती है| जिससे भाजपा के सहयोगी पार्टियाँ जनता को जवाब देने में असहज हो जाती हैं| इससे उनके अस्तित्व का खतरा उत्पन्न हो जाता है| जबकि कांग्रेस का सिध्दांत विकेंद्रीकृत होती है| जिससे कांग्रेस के साथ आनेवाले सहयोगी दल अपने को उन्मुक्त महसूस करते हैं| कांग्रेस बड़ी पार्टी होते हुए भी अपने सहयोगी पार्टियों की भावना का हमेशा आदर करती है|