‘आप’ नेता पर पुलिस द्वारा जानलेवा हमला मुख्यमंत्री के इशारे पर हुई : उमेश्वर सिंह

114
0
SHARE

पटना – आम आदमी पार्टी से छपरा जिलाध्यक्ष उमेश्वर सिंह ‘मुनि’ पर छपरा पुलिस द्वारा जानलेवा हमला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इशारे पर करवाया गया है, आम आदमी पार्टी के बढ़ते कद से बिहार सरकार घबराई हुई है। तीन दिनों से शांतिपूर्ण अनशन पर बैठे आम आदमी पार्टी के छपरा जिलाध्यक्ष उमेश्वर सिंह मुनि समेत पार्टी कार्यकर्ताओं की बेरहम पिटाई इसका प्रमाण है। उक्त बातें जिलाध्यक्ष मनोज कुमार ने आज पटना में पार्टी प्रदेश कार्यालय पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कही है।

गौरतलब है कि छपरा शहर के नगरपालिका चौक पर विगत 30 अगस्त से ही आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष उमेश्वर सिंह उर्फ मुनी विभिन्न मांगो के समर्थन में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अनशन कर रहे थे। इसी बीच अमनौर के आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता डा.अनील कुमार कुशवाहा की हत्या के विरोध में शनिवार को स्थानीय नागरिकों ने बांस-बल्ला लगाकर नगरपालिका चौक पर आवागमन ठप्प करने की कोशिश की।इसकी भनक लगते ही पुलिस-प्रशासन घटनास्थल पर पहुंचकर रास्ता खोलवाने के लिए बल प्रयोग करना शुरू कर दिया।जिसमें कई युवाओं को चोंटे लगी। बीच-बचाव करने अनशन स्थल से उठकर पहुँचे छपरा जिलाध्यक्ष उमेश्वर सिंह मुनि को स्थानीय पुलिस ने बेरहमी से पीटकर लहूलुहान कर दिया।जिससे वे बीच सड़क पर ही गिरकर बेहोश हो गये। बाद में पुलिस ने आप जिलाध्यक्ष को गिरफ्तार कर जीप में बैठाकर सदर अस्पताल पहुंचाया जहां उनका प्राथमिक उपचार किया गया।

पार्टी नेताओं के दबाब पर थानाध्यक्ष ने देर रात जिलाध्यक्ष मुनि की रिहाई तो की लेकिन जबरन दो सादे कागज पर छपरा जिलाध्यक्ष का हस्ताक्षर भी करवाया। मुनि ने थानाध्यक्ष पर आरोप लगाया कि बिहार सरकार के इशारे पर इस कागज का दुरुपयोग हो सकता है यह जाँच का विषय है।

आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश मीडिया प्रभारी ने घोषणा की निर्धारित तिथि पर छपरा मुख्यालय पर घटना के विरोध में आम आदमी पार्टी बिहार के कार्यकर्ता प्रदर्शन करते हुये घटना की उचित न्यायिक जाँच और दोषियों पर कार्रवाई की माँग करेंगे। विरोध प्रदर्शन में बिहार के सभी जिलों के जिलाध्यक्ष अपने सक्रिय कार्यकर्ताओं के साथ भाग लेंगे।