आरोपी विधायकों व सांसद पर कार्रवाई कब करेंगे तेजस्वी ? – नीरज

417
0
SHARE

पटना- जनता दल (युनाइटेड) के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने बुधवार को भाषाई मर्यादा भंग करने और दलित समुदाय से आने वाले इंजीनियर को जतिसूचक शब्दों के इस्तेमाल करने के आरोपी विधायकों और सांसद पर कार्रवाई करने को लेकर सवाल सवाल खड़ा करते हुए पूछा है कि राजद इन विधायक और सांसद पर कार्रवाई कब करेगा?

राजद की पहचान प्रारंभ से ही राजनीति में’लंपटीकरण’ की रही है। ऐसे में परिवारवाद के कारण ही सही जब तेजस्वी यादव राजद के ’सर्वेसर्वा’ बने, तब ऐसा लगा था कि युवा होने के नाते आप में राजनीति में सुधार करने का माद्दा होगा। परंतु आप भी राजद की विरासत की तरह उसी राह पर चलते हुए इस लंपटीकरण के साथ खड़े हो गए।

दुष्कर्म के आारोपी विधायक राजवल्लभ यादव पर आज भी कोई कार्रवाई नहीं की गई है। अररिया के सांसद सरफराज आलम के आतंक के कारण सदर अस्पताल के प्रभारी चिकित्सक त्यागपत्र देने की बात कही है जबकि बड़हरा के विधायक सरोज यादव एक दलित इंजीनियर को जान मारने की धमकी दे रहे हैं।

आप तो दलितों के वोट लेने के लिए हर तिकड़म अपनाते हैं परंतु ये कैसा विरोधाभास है? एक ओर आप वोटबैंक समझकर दलितों के रहन्नुमा बनाने का सपना दिखाते हैं, और दूसरी तरफ आपके विधायक दलितों को जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर उसकी जान लेने पर आमदा हैं।

तेजस्वी , क्या ऐसे ही विधायकों और सांसदों के जरिए आपका दल बिहार में कानून और व्यवस्था के उपर अंगूली उठाता हैं? ऐसे भी एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक राजद के 46 विधायक संगीन अपराधिक मामले के आरोपी हैं।

वैसे , बिहार में कानून का राज है। राजद भले ही अपने पूर्वजों का धर्म निभाते हुए आरोपी विधायकों व सांसद पर कोई कार्रवाई नहीं करे परंतु बिहार में कानून का पालन तो होगा ही। इसी कानून के तहत अब तक राजवल्लभ यादव जेल में हैं।