इंतज़ार है नीतीश के फैसला का: सुशील मोदी

192
0
SHARE

पटना: सुशील मोदी ने आज अपने आवास पर मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि महागठबंधन के सभी घटकों ने अपना-अपना स्टैंड स्पष्ट कर दिया है। आरजेडी ने कह दिया है कि वो इस्तीफ़ा नहीं देंगे। दूसरी तरफ़ कांग्रेस ने भी आरजेडी का समर्थन किया है, उन्होंने स्पष्ट किया है कि वो भ्रष्टाचार के साथ खड़े रहेंगे। इस महागठबंधन के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी आज स्पष्ट कर दिया। नीतीश कुमार ने कहा कि जनता के सामने आकर आरोपों पर तथ्यों के साथ जवाब दें। अब गेंद आरजेडी के पाले में है।

जिस आरोप की शुरुआत जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने की थी किसीबीआई ने एफ़आईआर दर्ज किया है, पुलिस की एफआईआर नहीं है। सीबीआई तभी एफ़आईआर दर्ज करती है जब उसके पास पर्याप्त सबूत होते हैं। लालू यादव के मामले में नीतीश कुमार ने कहा था कि लालू जी को इस्तीफ़ा दे देना चाहिए जब तक कि वो निर्दोष साबित न हो जाएँ।

उन्होंने यह भी सफाई दिया कि नित्यानंद राय के बयान को ग़लत तरीक़े से पेश किया गया है। कल दिल्ली में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानन्द राय ने कहा था कि अगर नीतीश तेजस्वी का साथ छोड़े तो बीजेपी साथ दे सकती है।

नीतीश कुमार जब एनडीए में थे तब उन्होंने आरोप लगने पर तत्काल कार्रवाई की थी लेकिन आज जेडीयू ने जो निर्णय लिया है उसमें उन्होंने आरजेडी को जवाब देने को कहा है। जवाब राजनीतिक नहीं बल्कि तथ्यों के आधार पर माँगा गया है। लेकिन आरजेडी के पास कोई जवाब नहीं है, बिहार में 1996 दुहरा रहा है।

जेडीयू ने आरजेडी को अल्टिमेटम दिया है। हम इंतज़ार करेंगे कि जवाब आने या न आने के बाद नीतीश कुमार क्या कार्रवाई करेंगे। मोदी ने कहा कि उम्मीद है कि इस अल्टिमेटम की कोई मियाद होगी। इसकी कोई सम्भावना नहीं दिखाई दे रही कि तेजस्वी यादव इस्तीफ़ा देंगे।

उन्होंने आगे कहा कि हम किसी सरकार को तोड़ने में विश्वास नहीं रखते। अब गेंद आरजेडी के पाले में है, देखना है कि वो हिट विकेट होते हैं या सिक्स मारते हैं। हमें जेडीयू से स्पष्टीकरण की उम्मीद थी लेकिन उन्होंने अल्टिमेटम दिया है।