इंसाफ के लिए दर-दर भटक रही एक बिन ब्याही मां

884
0
SHARE

मधुबनी: बिहार के मधुबनी जिले में एक प्रेमिका लोक-लज्जा से बचने के लिए प्रेमी पर बार-बार शादी करने के लिए दबाव बनाती रही। लेकिन प्रेमी उसे गुमराह करता रहा। समय का चक्र चलता रहा और नौ माह के बाद बिन ब्याही एक बच्चे की मां बन गई। इसके बाद समाज ने उसे बदचलन कहना शुरू कर दिया।

हालांकि उसकी मां ने समाज के बीच जाकर सच्चाई बताई। इसके बाद लोगों ने आरोपित प्रेमी को सामाजिक अदालत में बुलाया। समाज ने शादी करने का फरमान जारी किया। लेकिन, उसने किसी का बात नहीं मानी।

थकहार कर लड़की पुलिस वालों की शरण में गई। थाने में प्रेमी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हुआ। इसके बाद पीडि़ता ने शनिवार को डीआइजी डॉ. सुकन पासवान से फरियाद कर इंसाफ की गुहार लगाई।

मधुबनी जिले के अंधरामठ थाना क्षेत्र निवासी लड़की ने कहा है कि गांव के ही इसराइल के पुत्र अफरोज ने झांसा देकर उसका शारीरिक शोषण किया। गर्भवती होने पर शादी करने का आश्वासन दिया। लेकिन बच्चे के जन्म लेने के बाद भी उसने शादी नहीं की। उसने स्थानीय पुलिस पर आरोपित के साथ मेल रखने का आरोप लगाया।

इस मामले को डीआइजी ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने मधुबनी एसपी से कांड संख्या 89-16 की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने स्पष्ट रूप से कार्रवाई कर पीडि़ता को इंसाफ दिलाने का आदेश दिया।