इलाज के अभाव में जच्चे-बच्चे की मौत

319
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – सदर अस्पताल भभुआ में इलाज के दौरान गर्भवती महिला और उसके बच्चे की मौत बुधवार की शाम को हो गई। मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। परिजनों ने साफ तौर पर मौत का जिम्मेवार अस्पताल प्रशासन को बताया है।

परिजनों का कहना है कि मंगलवार की रात 2 बजे अस्पताल में भर्ती कराने के लिए महिला को लेकर आये थे। उस वक़्त अस्पताल में 4-5 नर्स थी। लाख बिनती के बावजूद किसी ने मरीज को नही देखा और गाली गलौज कर रात में भगा दिया। मरीज को अस्पताल में सुबह लगभग 9 बजे देखा गया और इलाज शुरू किया गया जिसके बाद शाम करीब 4 बजे डिलीवरी से पहले की महिला और बच्चे की मौत हो गई। 

पुलिस को दिए गए आवेदन की हिसाब से मृतक जिले के रामपुर प्रखण्ड के रहने वाले। मंगलवार की रात 2 बजे अस्पताल में भर्ती कराया था। मृतका के पति बसावन राम और भैसुर उमेश राम ने आरोप लगाया कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से मौत हुई है। रातभर मरीज को लेकर अस्पताल में भागते रहे है लेकिन किसी ने इलाज नही किया। इलाज के आभाव मरीज और नवजात की मौत हो गई है। 

सदर अस्पताल के डीएस डॉ विनोद सिंह ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज देखा जाएगा जिसके बाद करवाई की जायेगा। मृतका में ब्लड की कमी थी ब्लड चढ़ाने के दौरान अचानक ही उसकी मौत हो गई।