उज्जवला योजना गरीब महिलाओं के लिए वरदान, एक बेहतर कल के लिए धुंआ मुक्त जीवन की होगी शुरूआत : नंदकिशोर

94
0
SHARE

पटना – बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना बिहार की गरीब महिलाओं के लिए वरदान साबित होगी। एक बेहतर कल के लिए धुंआ मुक्त जीवन की शुरूआत तो होगी ही साथ नाना प्रकार की धुंआ जनित बीमारियों से भी छुटकारा मिलेगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में इस योजना के द्वितीय चरण की शुरूआत 20 अप्रैल 2018 को होगी जिसके तहत 50 लाख से अधिक गरीब परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन दिया जायेगा। सन 2016 में शुरू हुई उज्जवला योजना के अन्तर्गत केन्द्र सरकार ने आठ करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त में एलपीजी कनेक्शन देने का संकल्प किया है। अब तक पांच करोड़ गरीबों को गैस कनेक्शन दिया जा चुका है। इनमें 48 लाख से अधिक बिहार की महिलाएं हैं। उज्जवला योजना से लाभान्वितों में 22 प्रतिशत दलित, 18 प्रतिशत अल्पसंख्यक और शेष अतिपिछड़े वर्ग की महिलाएं हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना गरीबोें के घर में एक नये बिहान की सफल शुरूआत है जहां इस वर्ग की महिलाओं को सुबह होते ही लकड़ी, गोयठा और कोयले से मुक्ति मिलेगी। धुंआ से उत्पन्न होने वाली बीमारियों से मुक्ति तो मिलेगी ही पर्यावरण को भी दूषित होने से बचाया जा सकेगा। एक साथ इतने लाभ वाली उज्जवला योजना के प्रति गरीब महिलाओं में उत्सुकता जगी है। इस योजना की ग्रामीण क्षेत्रों में मिल रही सफलता और गरीबों के घरों में प्रवेश से घर-घर में गूंज रही ‘हर-हर मोदी घर-घर मोदी’ की जयकारे से विपक्षी दलों में बेचैनी का आलम है।