उदय नारायण चौधरीे जेडीयू पर “भार” के समान : अरविंद निषाद

117
0
SHARE

पटना – जनता दल (यू) के प्रवक्ता अरविंद निषाद ने उदय नारायण चौधरी के जनता दल (यू) छोड़ने की घोषणा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने अपनी इच्छा से दल का त्याग किया हैं। चौधरी को जनता दल (यू) ने सम्मान देने में कोई कमी नही की। राजद छोड़ जनता दल (यू) में शामिल होने के बाद जेडीयू ने उन्हें वर्ष 2004 में पार्टी का मुख्य प्रवक्ता बनाया, जदयू की सरकार बनने के बाद उन्हें संवैधानिक पद अध्यक्ष विधानसभा के पद पर सर्वानुमति से 10 वर्षों तक अध्यक्ष बनाये रखा।

उन्होंने कहा कि विगत लोकसभा चुनाव में जदयू ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को दरकिनार कर उदय नारायण चौधरी को जमुई लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया। लोकसभा चुनाव में पराजित होने के बाद भी उन्हें इमामगंज से उम्मीदवार घोषित किया जिसमें भी इन्हें मुंह की खानी पड़ी। इतना सम्मान मिलने के बावजूद चौधरी ने कुछ विशेष पाने की महत्वाकांक्षा में दल एवं पार्टी नेतृत्व को कोसने में कभी कमी नही किया। निषाद ने कहा कि जनता दल (यू) से एक “भार” कम हुआ।