उपेंद्र कुशवाहा खीर के साथ-साथ पंचमेवा और तुलसी के साथ स्वादिष्ट भोजन तैयार करने में जुटे

92
0
SHARE

पटना – उपेंद्र कुशवाहा खीर के साथ साथ पंचमेवा और तुलसी के साथ स्वादिष्ट भोजन तैयार करने के अभियान में जुटे। दरअसल कल पटना में बीपी मंडल के जयंती समारोह में उन्होंने साफ संकेत दिया कि बिहार में यदुवंशी के संग कुशवंशी की जरूरत है। मतलब उन्होंने समझाया यादव की दूध और कुशवाहा की चावल मिल जाए तो खूब अच्छी खीर बनेगी। खीर में पंचमेवा की जरूरी पड़ती है। दूध और चावल के साथ पंचमेवा के रूप में मिथिला में पंचफोड़न के लिए पिछड़ा, अति पिछड़ा और शोषित पीड़ित के पंचमेवा की भी आवश्यक पड़ता है। खीर बिना चीनी का तैयार नहीं होता चीनी तो बड़े लोगो के घर में होता है चीनी पण्डित के घर से आ जाएगा।

उन्होंने कहा कि पूरा भोजन तैयार होने के बाद तुलसी जल की जरुत पड़ती है इसके लिए चौधरी जी के घर में तुलसी के पेड़ बहुत है। तुलसी जल उनके घर से आ जाएगा। भोजन पड़ोसन के लिए दस्तरख़ान की जरूरत पड़ती है इसके लिए जुल्फिकार अली के घर से दस्तरखान ले आएंगे और सब मिल कर स्वादिष्ट खाना की स्वाद लेंगे।