एआईएसएफ और जन अधिकार छात्र परिषद का गठबंधन देश व बिहार की राजनीति को बनायेगा व्यापक : पप्पू यादव

76
0
SHARE

जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि कोई भी चुनाव समाज निर्माण के लिए महत्वपूर्ण होता है, इसके माध्यम से मानवीय मूल्यों और बेहतर जिंदगी जीने के साथ-साथ हमें मुस्कुराने का एक बेहतरीन मौका देता है। आज सबसे बड़ी बात यह है कि समाज में संपूर्णता, नैतिकता और मानवीय मूल्य का अभाव है जिस कारण समाजशास्त्र का निर्माण नहीं हो पा रहा है,बिना समाजशास्त्र के निर्माण के राजनीति शास्त्र का निर्माण की बात करना बिल्कुल ही व्यर्थ है।

पप्पू ने कहा कि छात्र संघ चुनाव में सीपीआई जैसी राष्ट्रीय पार्टी के छात्र संगठन एआईएसएफ ने पहले मिथिला यूनिवर्सिटी में और अब आज पटना यूनिवर्सिटी के चुनाव में जन अधिकार छात्र परिषद के साथ चुनावी समझौता करके देश और बिहार को एक बेहतर संदेश दिया है,यह उन लोगों के लिए संदेश है जो लोहिया और कर्पूरी ठाकुर के नाम पर राजनीति तो करते हैं लेकिन जातीयता की राजनीति को आगे रखकर समाज को कमजोर करते हैं ।

समाजवाद और सबको साथ लेकर चलने वाली विचारधारा के साथ उन्माद और नफरत की राजनीति करने वालों को करारा जवाब दे सकते हैं, क्योंकि ऐसे उन्माद और सांप्रदायिकता के नाम पर राजनीति करने वाले लोग लोग सिर्फ समाज को एनआरसी, गाय, गंगा, मंदिर – मस्जिद और दूसरे उन्मादी मुद्दों में उलझा कर ही देश को कमजोर करने का काम करते हैं। हमारे गठबंधन का लक्ष्य है कि बेहतर शिक्षा के साथ-साथ हमारे बच्चे और बच्चियां सुरक्षित भविष्य कैसे बना सके और बिना डर और अभाव के किस तरह से बेहतर शिक्षा प्राप्त कर सके इसके लिए पप्पू हर स्तर पर उनके साथ खड़े रहेंगे और हमारा प्रयास उनके लिए पूरी तरह से ईमानदारी एवं समर्पण का रहेगा । जब तक अपने विचारों और आचरण के साथ इमानदारी पूर्वक खड़े नहीं हुए तब तक ऐसे उन्मादी और नफरत की राजनीति करने वाले हमेशा ही समाज को नुकसान पहुंचाते रहेंगे।

उन्होंने आगे आगे कहा कि बिहार तथा छात्रों के हित में यह गठबंधन व्यापक बने, इसके लिए हमेशा प्रयास जारी रहेगा और आज एआईएसएफ और जन अधिकार छात्र परिषद ने गठबंधन करके लाखो छात्रों के भविष्य के साथ साथ समाज को बेहतर निर्माण की दिशा में ले जाने का जो प्रयास किया है उसमें आप सभी के सहयोग और समर्थन की आवश्यकता है उम्मीद करते हैं कि आप सभी हमारे इस गठबंधन को पटना यूनिवर्सिटी के चुनाव में वोट देकर छात्रों तथा अपने बच्चों के बेहतर भविष्य को बनाने में और उन्माद तथा जातीय राजनीति करने वालों को करारा जवाब देने में सहभागी बनेंगे।