एनएसयूआई ने सड़क पर पकौड़ा बेचकर किया नरेंद्र मोदी का विरोध

199
0
SHARE

औरंगाबाद: भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के जिलाध्यक्ष इंजीनियर विवेक सिंह चौहान एवं नगर अध्यक्ष ऋषभ सिन्हा के संयुक्त नेतृत्व में सैकड़ों छात्रों ने अपने डिग्री को गले में लटका कर पकोड़ा बेचकर बेरोजगारी का विरोध किया. जिला सचिव मोहम्मद मजहर एवं जिला उपाध्यक्ष भीम सिंह ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद जब से भाजपा सरकार केंद्र में आई है तब से किसी भी विभाग में वैकेंसी नहीं आई है जिसके कारण करोड़ों पढ़े-लिखे शिक्षित युवा बेरोजगारी की जिंदगी जी रहे हैं।

जिला महासचिव शुभम सिन्हा एवं सदर प्रखंड अध्यक्ष मारुत पांडे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सिर्फ और सिर्फ भारत के युवाओं को अपने जुमलों से प्रभावित करना चाहते हैं. लेकिन मोदी इस देश के युवा रोजगार मांग रहे हैं. किसी भी युवा का खर्च एवं परिवार का जीवन यापन जुमलों से नहीं चलता है .

जिला संयोजक संदीप किशोर ने कहा कि एनडीए की सरकार में 2014 के समय यह घोषणा हुई थी कि दो करोड़ युवाओं को नौकरी प्रति वर्ष दी जाएगी लेकिन अभी तक मात्र 2 लाख युवा को नौकरी दी गई है. अपने देश में नौकरी कैसे मिलेगी इस बात की चिंता नहीं है मोदी को.

इस संबंध में हम सभी की तरफ से आप से आग्रह है और विनम्र पूर्वक पूछना चाहते हैं क्या जो छात्र 4 से 5 लाख रुपया बैंक से लोन लेकर इंजीनियरिंग करते हैं उन्हें नौकरी नहीं मिलती है तो क्या वह पकौड़े बेचकर अपने बैंक का कर्जा चुका सकेंगे. कृपया करके भावनाओं से खिलवाड़ ना करें तो बेहतर होगा। इस मौके पर विक्रांत सिंह गौतम राशिद खान अफरोज जावेद सलीम खान नीतीश जयेश इम्तियाज आशीष सुमन राहुल फरहान इरफान चंदन इकबाल अनूप वारिस हैप्पी सिंह इकबाल लूटन यादव शशि सिंह आदि मौजूद थे.