एसपी ने गलत अफवाह फैलाने वालों को ऐसे किया दंडित

384
0
SHARE

आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

शिवहर- जिले के लोग नवरात्रि के षष्ठी के दिन माँ दुर्गा को पूजा करने में लगे हैं। वहीं शिवहर पुलिस अधीक्षक ने जिले को दहलाने की अफवाह फैलाने वाले तीन लोगों को हिरासत में लिया, और इसको लेकर एक बड़ी घटना होने पर विराम लगा दिया है। इतना ही नहीं एसपी ने अफवाह फैलाने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की बात कहीं। पुलिस अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्रा को मोबाइल पर किसी अनजान आदमी के द्वारा जिले को बम से दहलाने की सूचना दी गई थी। जिसपर त्वरित करवाई करते हुए एसपी पीएन मिश्रा द्वारा एसएसबी 18 मेटल डिटेक्टर, राइट, भेकिल, बुलेट प्रूफ दस्त व वाहन, एंटी लैंड माइंस और ड्राइवर बलो की तैनाती शहर में ससमय कर दी।

वहीं एसपी द्वारा थानाध्यक्ष शिवहर की अध्यक्षता में एक स्पेशल टीम का गठन कर के जिले में प्रवेश व निकलने के सभी पांचों मोड़ पर तुरंत चेकिंग अभियान शुरु करवा दिया। इधर लोगों के गलत अफवा से आम लोगो में दहशत न फैले इस लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों को सावधानी और सतर्कता पूर्ण विस्फोटक खोजने का निर्देश दिया गया। वहीं जिले के सभी थानों के गश्ती दलो को बैंक समेत बड़े संस्थानों में सर्च अभियान चलाने को कहा गया।

पुलिस अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्रा ने इस संदर्भ में मंगलवार को प्रेसवार्ता कर बताया कि जिला में सघन अभियान चलाया गया है। जिसके तहत श्यामपुर भटहा के जांच के दौरान 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार परशुराम पटेल, महेश सिंह, तीनों श्यामपुर भटहा निवासी को पुलिस को गलत सूचना देने व सौहार्द बिगड़ने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। तीनों के पास से जब्त मोबाईल के कॉल डिटेल खंगालने के बाद पुलिस अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्रा को 25 सितंबर 2017 को दोपहर तकरीबन 2 बजे के करीब चार फोन करने का सबूत मिला है।

जिसमें एसपी मिश्र को 10 मिनट के अंदर शिवहर को बम से दहलने कि धमकी देते हुए सतर्क होने को कहा गया था। जिसपर एसपी द्वारा पुलिस डिपार्टमेंट को सतर्कता करते हुए पूरे शिवहर की नाका बंदी कर सघन चेकिंग अभियान करना शुरु करा दिया गया था। प्रेसवार्ता में एसपी ने बताया कि तुरंत पुलिस बल को न्यायालय, समाहरणालय एवं उसके इर्द-गिर्द भीड़-भाड़ वाले स्थान में पूरी टीम को भेजकर उन्हें चप्पे-चप्पे को खंगालने का निर्देश दिया गया था।

वही नियत्रंण कक्ष के नंबर व जिले के सीसीटीवी कैमरा के प्रभारी को अलर्ट कर दिया गया था। इस बीच पुलिस के तकनीकी सेल का काम चलता रहा और शाम होते होते यह खुलासा हो गया कि तक कॉल आए नंबर का पता लगा लिया गया और रात होते-होते पुलिस ने उन लोगों को दबोचा लिया।
वही पुलिसिया पूछताछ के दौरान मामला झूठा कॉल परेशान किए जाने का आया। वही गिरफ्तार अपराधियो ने बताया कि टेम्पू चालक का मोबाइल टेम्पू में छूट गया था। जिससे परेशान करने की नियत से पुलिस को फोन किया गया। एसपी मिश्र ने बताया कि तीनों गिरफ्तार गजेरी गए हैं। पुलिस को भ्रमित करने की चेष्टा करने के कारण पुलिस हिरासत में मोहर्रम पर्व तक रखते हुए तीनों से साफ सफाई का काम व जरूरतमंद लोगों को सेवा सत्कार करवाने का काम करवाया जाएगा।