औरंगाबाद की खबरें

530
0
SHARE

डीएम की गाड़ी के नीलामी का न्यायालय ने दिया आदेश

औरंगाबाद: व्यवहार न्यायालय के सब जज – 1 के विद्वान न्यायाधीश अनिल कुमार मिश्रा की अदालत ने जिलाधिकारी डीएम कंवल तनुज की स्कार्पियो गाड़ी को नीलाम करने का आदेश निर्गत किया है। न्यायाधीश के आदेश के पश्चात वहां के नीलामी की राशि होगी सिविल कोर्ट, औरंगाबाद के नजारत में जमा करनी। शुक्रवार को वाद संख्या 4/2007 मुंगेश्वरी देवी बनाम बिहार सरकार पर सुनवाई के बाद न्यायायल द्वारा यह आदेश जारी किया गया में न्यायालय ने आदेश जारी किया है।

गौरतलब है की यह मामला इजरायवाद संख्या 146/90 में पारित निर्णय व डिक्री के आधार पर चल रहा है। मामले के शिकायतकर्ता सदर प्रखंड के जसोइया गांव के मिश्र बिगहा निवासी रामकेश पासवान की कुछ वर्ष पूर्व मौत हो गयी थी और उनके मौत के बाद उक्त मामले की पैरवीकार मुंगेश्वरी देवी की भी मौत वर्ष 2008 में हो गयी। महिला की मौत के बाद इसकी पैरवी करते हुए दिनेश्वर पासवान द्वारा मुआवजे की मांग की गई जिसके अंतर्गत 8 अक्टूबर 2010 को भी एक आदेश मुआवजे के भुगतान से संबंधित आदेश जिला पदाधिकारी को भी भेजी गई थी। परंतु इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

वर्ष 2016 के 23 अप्रैल को भी इसकी सूचना जिलाधिकारी को दी गयी बावजूद शिकायतकर्ता को न्यायालय के द्वारा दिये गए आदेश का लाभ नही मिल सका। पुनः 28 नवंबर 2017 को एक आवेदन पत्र देकर डीएम के स्कार्पियो BR 26 H- 2222 नीलाम करा कर शिकायतकर्ता एक लाख तिरपन हजार रुपये भुगतान करने का निर्देश दिया गया और यह शपथ पत्र भी प्रस्तुत किया गया कि उक्त गाड़ी की किसी परिस्थिति में न तो बिक्री होगी न स्थानांतरण होगा और ना ही उसके स्वरूप में किसी प्रकार का परिवर्तन किया जाएगा। मामले में उदासीनता को देखते हुए न्यायालय के तरफ से यह आदेश जारी किया गया है।

इधर इस मामले में जिलाधिकारी कँवल तनुज ने कहां की न्यायालय से आदेश आया है उसका हम लोग जवाब दाखिल करेंगे और इस मामले में जिसने भी शपथ पत्र दिया है वह बिना जानकारी में हड़बड़ी से दे दिया गया है हम लोग उस पर प्राथमिकी दर्ज करेंगे। जहां तक पैसे के भुगतान की बात है उसकी पूरी जानकारी मांगी गई है और हम लोगों की यह कोशिश होगी कि किसी भी कीमत पर कोई भी राशि भुगतान नहीं हो। साथ ही साथ एलआरडीसी से पूरी रिपोर्ट मांगी गई है।

बभंडी स्कूल के बच्चों ने परीक्षा पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री को दिया धन्यवाद

औरंगाबाद: बभंडी हाई स्कूल के वर्ग 6 से 10 तक के बच्चों ने 11 से 12 बजे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन एवं उनके द्वारा कई प्रश्नों के उत्तर को बेहद सामयिक एवं महत्वपूर्ण बताया। विद्यालय के सभागार में सैकड़ों की संख्या में बैठकर परीक्षा के समय होनेवाले तनावों से निपटने के अनेक टिप्स सीखे।

सभी लोग अपने विद्यार्थी को सदैव जीवित रखे, एकाग्रता के लिए योग करने, एग्जाम वारियर्स किताब को अवश्य पढ़ने, अभिभावकों के द्वारा सामाजिक प्रतिष्ठा के लिए अंको को लाने हेतु दबाव न देने, कठिन परिश्रम से आत्मविश्वास लाने एवं “बनाना चाहता हूं” कि जगह “करना चाहता हूं” कि आदत डालने के प्रधानमंत्री ने सुझाव दिए।

प्रधानाध्यापक उदय कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को सुनने हेतु विभागीय निर्देशो को जारी करने हेतु जिला शिक्षा पदाधिकारी को धन्यवाद ज्ञापित किया। विद्यालय के हेडमास्टर उदय कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री के इस पहल को अदभुत बताया एवं उनके द्वारा EQ (Emotional Quotient) और IQ (Intelligent Quotient) में फर्क एवं EQ के व्यक्ति के जीवन पर व्यापक प्रभाव को लाजवाब तरीके से समझने के तरीके को सराहा।

जिला पदाधिकारी कँवल तनुज को मिले राष्ट्रपति सम्मान, महादलितों ने किया शहर में पैदल मार्च

औरंगाबाद: शुक्रवार को महादलित वर्ग के लोगों ने डीएम कंवल तनुज को राष्ट्रपति सम्मान देने की मांग को लेकर शहर में बस पड़ाव से पैदल मार्च निकाला और लोगों से समर्थन की मांग भी की है। इस कार्यक्रम का नेतृत्व मनीष कुमार, उदय भुइयां, मुन्ना राम, राम प्रसाद राम, शिव भुइयां, राजूराम ने की। मौके पर शिव कुमार, मनीष कुमार ने कहां की जिलाधिकारी कंवल तनुज साहब ने औरंगाबाद जिले में बेहतर से बेहतर कार्य को संपादित किया है। यहां के डीएम साहब दलित और महादलितों के लोगों को तरजीह देते हैं और जिले में बहुत ही सहानीय कार्य किये हैं जिसे कभी भी भूलाया नहीं जा सकता है।

जिला पदाधिकारी कंवल तनुज साहब सन् 2015 में आये तो थे सबसे पहले विधानसभा चुनाव को करवाया हमारे जिले में डीएम बनकर आये हैं अभी तक जितना भी पर्व त्योहार आया उसमें डीएम ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और लोगों के बीच एक आईकन बन गये हैं। चाहें दुर्गा पूजा हो, मुहर्रम, बकरीद, दिपावली, रामनवमी, छठ पूजा या होली पर्व इनके प्रयास से शांतिपूर्वक सभी समुदाय के लोगों ने पर्व को मनाया। डीएम ने बराबर दलितों एवं महादलितों की आवाज को दिल से सून रहे हैं और उसे अपने संज्ञान में लेकर जिस प्रकार से आये हुए समस्याओं को सूनने का कार्य कर रहे हैं वह काफी सराहनीय कार्य है।

शराबबंदी से हम सभी महादलित के लोग काफी खुशी व्यक्त कर रहे हैं और हमारे समाज में एक बहुत ही बेहतरीन माहौल को सुव्यस्थित करने में जो डीएम ने योगदान दिया है वह तो कभी भूलाया ही नहीं जा सकता है। हमारे परिवारों के लोग काफी खुशी की जिंदगी जी रहे हैं। आगे दलितों ने बताया कि सरकार की महत्वाकाक्षीं 7 निश्चय योजना में शराबबंदी, शहर से अल्पसंख्यक छात्रावास चालू कराने, नवीनगर थर्मल पाॅवर प्लाॅट को सुचारू रूप से संचालित करने, शहर की सौन्दर्यीकरण, गांधी मैदान स्टेडियम से दो करोड़ रूपये की लागत से स्टेडियम का निर्माण सहित अन्य विकास कार्य में डीएम की पहल सराहनीय रही है।

प्रशासनिक एवं जनहित कार्यों में जिस प्रकार डीएम कंवल तनुज साहब ने देव में सूर्य मंदिर से जिला का चहुंमुखी विकास किया जा रहा है। इस अच्छे काम को देखते हुए 3 दिसम्बर 2017 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा भी सम्मानित किये जा चुके हैं। इनके द्वारा सूर्य महोत्सव, उमगा महोत्सव भी शांतिपूर्ण प्रसिद्ध कलाकारों के द्वारा संपन्न हुआ। इसलिए अब इन्हें राष्ट्रपति से भी सम्मानित किया जाना अति आवश्यक है।

इस अवसर दीपक राम, अजय राम, गोपाल राम, संजय कुमार, धीरेंद्र राम, मृत्युंजय कुमार, राजू राम, भोला राम, राम बलराम, सहित अन्य दलित तथा महादलित वर्ग के लोग उपस्थित थे। महादलितों ने कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होती तब तक हमारा हस्ताक्षर अभियान पैदल मार्च चलता ही रहेगा।

औरंगाबाद- रफीगंज थाना क्षेत्र के रतन खाप गांव से गुरुवार को वायरल हुई आपत्तिजनक विडियो से आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल काटा। शुक्रवार की सुबह करीब 10 बजे एक पक्ष के लोगो ने नुनिया तिलहा मोड़ पर रफीगंज गोह मार्ग को जाम कर आगजनी एवं प्रदर्शन किया। मामले की सूचना मिलते ही इंस्पेक्टर राजकुमार सिंह एवं थानाध्यक्ष संजय कुमार सिन्हा ने दोनों पक्ष के जनप्रतिनिधियों के सहयोग से वायरल वीडियो में कुछ युवकों ने प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और भारत के बारे में कुछ आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए गालियाँ दी है। मामले में पुलिस ने गाली देने वाले रतन खाप निवासी मोहम्मद कयूम, मोहम्मद उमैर तथा मोहम्मद राजू को को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस एक और शरारती तत्व मोहम्मद मुर्शीद की गिरफ्तारी के लिए छानबीन कर रही है।

सड़क जाम और आगजनी की खबर मिलते ही डीएम कंवल तनुज, एसडीओ सुरेंद्र प्रसाद, एसडीपीओ पी एन साहू, एसडीपीओ दाउदनगर संजय सिंह, अंचलाधिकारी राघवेंद्र दयाल, इंस्पेक्टर राजकुमार सिंह, इंस्पेक्टर श्यामकिशोर सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और मामले को शांत कराते हुए दोषी व्यक्ति को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया तथा साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखने की अपील की। डीएम ने बताया कि आपत्तिजनक वीडियो कुछ शरारती तत्वों के द्वारा वायरल किया गया है। वीडियो वायरल करने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है तथा बाकी दोषियों के गिरफ्तारी की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कठोर कानूनी करवाई की जाएगी। उन्होंने स्थानीय लोगो से शांति बनाए रखने की अपील की।डीएम ने बुलाई शांति समिति की बैठक।

आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने से उत्पन्न तनाव एवं दोनों समुदायों में आपसी सौहार्द कायम करने को लेकर डीएम कंवल तनुज ने रफीगंज थाना परिसर में शांति समिति की आपात बैठक बुलाई। उन्होंने कहा कि दोनों समुदाय के लोग संयम बरतें कानून दोषी व्यक्ति के विरुद्ध कठोर करवाई करेगा। वीडियो वायरल में आपत्तिजनक शब्द का प्रयोग किया गया है जिसमें एक समुदाय की भावनाएं आहत हुई है इस मामले में केवल कुछ शरारती तत्वों का हाथ है न कि किसी समाज का। उन्होंने प्रशासन को दोषी व्यक्तियों की गिरफ्तारी में सहयोग करने पर स्थानीय लोगों का आभार प्रकट किया।

डीआईजी पहुंचे रफीगंज। आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने से उत्पन्न तनाव को शांत करने एवं दोनों समुदाय में आपसी सौहार्द स्थापित करने को लेकर डीआईजी विनय कुमार रफीगंज पहुंचे। उन्होंने जिला पार्षद अध्यक्ष प्रतिनिधि संजय यादव, जिला पार्षद शंकर यादवेन्दू , दीनानाथ विश्वकर्मा एव लडू खां सहित अन्य जनप्रतिनिधियों से मिलकर शांति एवं सद्भाव बनाए रखने की अपील की।