औरंगाबाद में जाम के दौरान पथराव, दागे आंसू गैस के गोले

1276
0
SHARE

औरंगाबाद: औरंगाबाद जिले के अम्बा थाना क्षेत्र की एरका कॉलोनी के समीप जाम के दौरान उग्र आंदोलन व पथराव के बाद हालात बेकाबू हो गए, तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। इस दौरान गोलीबारी भी हुई। भगदड़ के दौरान कई पुलिसकर्मी और पब्लिक को चोटें आईं। विदित हो कि शुक्रवार की रात एरका कॉलोनी के समीप एक बाइक दुर्घटना हुई थी। इसमें एरका निवासी रंजय कुमार घायल हो गये थे। जिस बाइक से रंजय को धक्का लगा, उसे ग्रामीणों ने अपने कब्जे में रखा था।

रंजय का इलाज बनारस में हो रहा है। इस मामले में जब लोग दूसरे दिन केस करने गए तो अम्बा पुलिस ने उन्हें कुटुम्बा थाना जाने को कहा। कुटुम्बा थाना बाइक बरामद करने शनिवार की रात एरका कॉलोनी पहुंची पर ग्रामीणों ने बाइक नहीं दी। इस मामले में अब तक कार्रवाई न होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार को एरका कॉलोनी के समीप एनएच 139 जाम कर दिया और पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मौके पर पहुंची अम्बा व कुटुम्बा पुलिस तथा बीडीओ मनोज कुमार ने उन्हें समझााने का हरसंभव प्रयास किया पर लोग नहीं माने।

वे कभी डीएम-एसपी को बुलाने तो कभी मुआवजे व एफआईआर की मांग कर रहे थे। प्रमुख धर्मेंद्र कुमार ने भी उन्हें समझाने का प्रयास किया पर विफल रहे। हालात बिगड़ता देख जिला से दंगा नियंत्रण पुलिस बुलाई गई। जैसे ही इस दल ने ग्रामीणों को खदेड़ने का प्रयास किया वे अत्यंत उग्र हो गए और जबरदस्त रोड़ेबाजी की। अंततोगत्वा प्रशासन को पीछे हटना पड़ा। ग्रामीण रोड़ेबाजी करते हुए प्रशासन को खदेड़ दिए। तकरीबन आधा किमी भागने के बाद पुलिस रुकी और मोर्चा संभाली। इस दौरान फाइरिंग भी हुई।

पुलिस बल दुबारा ग्रामीणों पर लपकी तब जाकर भीड़ तितर-बितर हुई। बाद में यहां एसडीओ सुरेन्द्र प्रसाद और एसडीपीओ पी़ एऩ साहू अतिरिक्त पुलिस बल के साथ पहुंचे और आसपास के घरों की तलाशी ली। इस दौरान दर्जनों लोगों को हिरासत में लिया गया। थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने कहा कि पुलिस की ओर से आंसू गैस के गोले दागे गए हैं और फायरिंग ग्रामीणों ने की है।