कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ताजिया निकाली गयी

139
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – मुहर्रम की दसवीं पर मंगलवार को प्रखंड क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच ताजिया निकाली गयी. हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी खजुरा पंचायत के सरैया व खजुरा गांव व परंपरा के साथ लोगों के बीच भाईचारा मिलन कर जगह-जगह मुंह मीठा किया गया. सबसे पहले मंगलवार की भोर में सरैया व खजुरा गांव से होकर नौबतपुर यूपी में प्रवेश किया. जहां कर्मनासा नदी पुल पर यूपी बिहार बॉर्डर तीनों ताजियों का मिलन हुआ. उसके बाद नौबतपुर चौक पर पहुंचा. वहां पर मुंह मीठा किया गया.

वहीं दोपहर बाद यूपी से नौबतपुर बिहार से खजुरा दोनों ताजिया सरैया चौक पर होते खजुरा चौक पर तीनों ताजिया एक साथ खजुरा पड़ाव हजरत अंजान शहीद बाबा के दरगाह के आगे पढाव मे पहुंचे. या हसन, या हुसैन की सदाएं गूंज उठीं ताजिया के आगे-आगे युवाओं की भीड़ थी जो लक्कड़ खेलने के साथ ही अन्य कई तरह की कला का प्रदर्शन कर रहे थे. मोहर्रम के जुलूस देखने के लिए गली मोहल्ले खचाखच भरे हुए थे.

शाम को ताजिया विभिन्न मार्गो से होकर कर कर्बला पहुंच कर दफन की गई. इस दौरान युवाओं ने विभिन्न तरह के करतब दिखाए. शाम को तीनों ताजिया एक साथ खजुरा बाजार पहुंची. काफी संख्या में लोग जुलूस में शामिल थे या हसन या हुसैन के साथ मातम पढ़ रहे थे. आपसी भाईचारे के साथ तीनों ताजिया का कर्मनाशा नदी पुल पर मिलन हुआ उसके बाद अपने-अपने कर्बला की ओर ताजिया लेकर पहुंचे.

इस दौरान जगह-जगह पुलिस और जवान सुरक्षा को चुस्त-दुरुस्त बनाने के लिए गश्त करते रहे. इस मौके पर याकूब अंसारी,छठ मियां,मुबारक अली,जलील मियां, जहूर अली सिराजुद्दीन, सरताज अली, हसन अली सहित काफी संख्या में लोग मौजूद रहे.