करोड़ों-अरबों की अकूत संपत्ति जमा करके अब महात्मा गांधी के रास्ते पर चलना चाहते तेजस्वी- संजय सिंह

401
0
SHARE

पटना- जेडी(यू) मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा की नीतीश कुमार को बिहार की सत्ता मिली तो उन्होंने उसे सार्थक बनाया। अपनी राजनीति को विकास से जोड़ा। नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार ने विकास की जो रफ़्तार पकड़ी है वो आज भी कायम है । नीतीश कुमार ने महात्मा गांधी, जेपी, कर्पूरी ठाकुर, लोहिया के बताए रास्तो अख्तियार किया है । बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के माध्यम से राज्य की बेटियों को शिक्षा दिया, पंचायत में महिलाओं को अधिकार दिया, शराबबंदी किया, अब बाल विवाह और दहेज़ प्रथा के खिलाफ आंदोलन शुरू किया है । नीतीश कुमार मर्यादा पुरुष है जो मान मर्यादा के साथ अपने गुरु और आदर्शो का भी मान बढ़ाया है। आज महात्मा गांधी, जेपी, लोहिया, कर्पूरी की आत्मा नीतीश कुमार आशीर्वाद देती होगी और इसी सबल के साथ नीतीश कुमार जनता के दरबार में हाजिरी लगाते है ।

नीतीश कुमार की छवि ही थी कि महागठबंधन को 2015 में इस कदर की सफलता मिली थी। नहीं तो 2014 में भाजपा की जो आंधी चली थी उसमें आरजेडी कहां उड़ जाती पता ही नहीं चलता । वो तो नीतीश कुमार ही थे जिन्होंने भाजपा की इस आंधी को रोका था और बिहार में अपना परचम लहराया था। लालू यादव काल्पनिक बातों को छोड़कर यथार्थ में बात करें। नीतीश कुमार महागठबंधन के नेता अपनी शर्तों पर बने थे और जब उनसे छल किया जाने लगा तो उन्होंने महागठबंधन को छोड़ दिया ।

हिंदी में एक कहावत है सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को। तेजस्वी यादव कुछ ऐसा ही करने वाले हैं। करोड़ों-अरबों की अकूत संपत्ति जमा करके अब महात्मा गांधी के रास्ते पर चलना चाहते तेजस्वी यादव से अपील है कि पहले वह अपनी संपत्ति का त्याग करें । उसके बाद चंपारण से अपनी यात्रा शुरू करें। जब तक वह अपने पिता के दिए गए धन का उपयोग करते रहेंगे तब तक उनकी इस यात्रा का कोई मतलब नहीं होगा। चंपारण जाने से पहले तेजस्वी यादव पहले अपने आप को शुद्ध करें , और लालू यादव से तमाम रिश्तो को तोड़े, तब थोड़ा-बहुत उनका पाप कम होगा ।

बिहार के विकास के लिए नीतीश कुमार ने एनडीए का रास्ता चुना है। एनडीए की सरकार केंद्र में है और अब एनडीए की सरकार बिहार में भी है यानी विकास में अब कोई रुकावट नहीं है। यदि देश की जनता ने बीजेपी को चुना है तो यह लालू यादव को समझना होगा कि देश की जनता क्या चाहती है । पूरा देश एनडीए सरकार की वाहवाही कर रहा है। देश हित में एनडीए सरकार ने कई अहम फैसले लिए हैं। जिसमें नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, जीएसटी जैसे अहम फैसले हैं, जिससे आम लोगों को फायदा हो रहा है। आरजेडी नेताओं को दीवार पर लिखी इबारत को पढ़ना चाहिए। उन्हें समझना चाहिए कि राज्य की जनता और देश की जनता क्या चाहती है।