कानपुर रेल हादसे का मुख्य आरोपी शमसुल होदा काठमांडू से गिरफ्तार

420
0
SHARE

पटना: कानपुर रेल हादसे का मुख्य आरोपी और आतंकवादी शमसुल होदा को सोमवार की रात एनआइए और स्पेशल टीम ने काठमांडू से गिरफ्तार कर लिया है। एनआइए और स्पेशल टीम उससे काठमांडू के जेल में ही पूछताछ कर रही है।

पिछले साल नवंबर के महीने में कानपुर में भीषण ट्रेन हादसा हुआ था। इसे पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अंजाम दिया था। इस बात का खुलासा बिहार पुलिस ने दो लोगों की गिरफ्तारी के बाद किया था।

मोतिहारी एसपी जितेंद्र राणा ने तब अपराधियों से पूछताछ के बाद कहा था कि इस घटना का मास्टर माइंड दुबई में बैठे शमसुल होदा है। वो अपने लोगों के जरिये हिन्दुस्तान में ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहा है। शमसूल होदा से पूछताछ के लिए आइबी और रॉ की टीम भी पूछताछ के लिए काठमांडू पहुंच गयी है।

पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में एक अक्टूबर 2016 को रेल पटरी पर एक बम मिला था। मोतिहारी पुलिस ने जब इसकी जांच को आगे बढ़ाया तो पुलिस को इस पूरे मामले में आतंकी कनेक्शन की जानकारी पहली बार मिली थी। रेल पटरी पर बम विस्फोट की मामले के आरोपी मोति पासवान को गिरफ्तार किया था तब इस मामले का खुलासा हुआ था।
मोति पासवान ने अपनी गिरफ्तारी के बाद पुलिस को बताया था कि दुबई में बैठे नेपाली कारोबारी शमसुल होदा ने इस साजिश को रची थी। उसने ही कानपुर में हुए रेल हादसा को भी अंजाम दिया है। इसके लिए उसने नेपाल के अपराधी ब्रजकिशोर गिरी के जरिये यहां पर पैसा भिजवाया था।

इसी पैसे से अपराधियों ने रेल पटरियों पर बम लगाया था और कानपुर में रेल हादसा को अंजाम दिया था। 20 नंवबर 2016 को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई थी। इसमें 153 लोगों की मौत हुई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल थे।

शमसुल होदा नेपाल के वीरगंज का रहनेवाला है। ये दुबई में बिजनेस करता है। सूत्रों के अनुसार होदा का पाकिस्तान के आईएसआई और दाउद इब्राहिम से भी संबंध है। पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन और कानपुर में इंदौर-पटना रेल एक्सप्रेस के पीछे नेपाली के शमसुल होदा का हाथ है जो ब्रजकिशोर गिरी के जरिए अंजाम देता था। बताते चलें कि भारत-नेपार बॉर्डर से ही आतंकवादी यासिन भटकल को गिरफ्तार किया गया था।