कार्तिक पूर्णिमा के दिन श्रद्धालु नारायणी में लगाएंगे आस्था की डुबकी

1018
0
SHARE

हाजीपुर: कार्तिक पूर्णिमा के दिन सोमवार को करीब बीस लाख श्रद्धालु विभिन्न घाटों पर डुबकी लगाएंगे। पवित्र स्नान को उमड़ने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ संभालने के लिए जिला प्रशासन मुस्तैदी से सभी तरह की व्यवस्था में जुटा है।

जिला प्रशासन के अधीन तमाम विभागों के पदाधिकारियों व कर्मियों की प्रतिनियुक्ति कर दी गई है। नारायणी के कुल दस घाट कोनहारा, बूटन दास घाट, कौशल्या घाट, हजूरी मठ घाट, सीढ़ी घाट, महेश्वर घाट, क्लब घाट, पुल घाट पुराना, कदम घाट एवं बाला दास घाट को स्नान के लिए सुरक्षित बनाया गया है। इन घाटों को छठ के दौरान ही सुगम बना दिया गया था।

चौबीस घंटे तक लगने वाले विशाल मेले के दौरान विधि-व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही यातायात-भीड़ नियंत्रण के लिए सैकड़ों की संख्या में पुलिस जवानों के साथ स्काउट गाइड कैडेट, कम्यूनिटी पुलिस के युवा लगाए जा रहे हैं।

स्नान के दौरान गहरे पानी में जाने से रोकने के लिए पांच फीट की गहराई के बाद बांस-बल्ले से बैरिकेडिंग कराई जा रही है। हालांकि छठ के दौरान ही नगर परिषद ने बेरिकेडस लगाए थे। पानी का सतह लगातार नीचे जा रहा है। अब हाल यह है कि छोड़ा गया बांस-बल्ला ऊपर और पानी नीचे चला गया है। नगर परिषद को फिर से बैरिकेडिंग करानी पड़ रही है। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान बाड़ से निकलने का प्रयास करने वालों को रोकने के लिए घाट पर बड़ी संख्या में पुलिस के जवान उपलब्ध रहेंगे।

आपदा बचाव कार्य का जिम्मा हाजीपुर सीओ को दिया गया है। सीओ ने पर्याप्त संख्या में नाव के साथ नाविकों की व्यवस्था की है। प्रत्येक नाव पर एक प्रशिक्षित तैराक, गोताखोर के साथ पुलिस एवं सैप के जवान सतत गश्त पर रहेंगे। इसके साथ ही आपदा प्रबंधन विभाग के प्रभारी पदाधिकारी ने पर्याप्त संख्या में लाइफ जैकेट उपलब्ध कराया है। शहर के मुख्य इंट्री प्वाइंट रामाशीष चौक, रेलवे स्टेशन चौक, अनवरपुर चौक, डाकबंगला चौक, गांधी चौक, त्रिमूर्ति चौक, एसडीओ रोड मोड़, नखास चौक, जौहरी बाजार, राजेंद्र चौक, सुभाष चौक, मस्जिद चौक, पासवान चौक, अंजानपीर चौक बागमली के तरफ, अंजानपीर जौहरी बाजार की तरफ, बीएसएनएल गोलंबर, बीएसएनएल गोलंबर उमेश सिनेमा रोड, नाका नंबर दो के पास, नाका नंबर तीन के पास, नया रेलवे पुल के नीचे मार्ग में, राम प्रसाद चौक एवं रमचौरा मंदिर के पश्चिमी छोर समेत दो दर्जन से अधिक ड्राप गेट का निर्माण किया जा रहा है।

सभी दस स्नान घाटों पर रेडक्रास व स्वास्थ्य विभाग का शिविर चौबीस घंटे कार्यरत रहेगा। शिविर में तीन डाक्टरों के साथ मेडिकल स्टाफ उपलब्ध रहेंगे। सुबह छह बजे से दो बजे दिन, दो बजे से दस बजे रात्रि व दस बजे रात्रि से अगले दिन सुबह छह बजे तक तीन पालियों में चिकित्सकों की टीम अपनी डयूटी देंगे।