किसान कर रहे थे विनती, इंद्र ने बर्षा की बौछारों से ला दी तबाही 

45
1
SHARE

लखीसराय- जिले के विभिन्न पंचायत क्षेत्रों में धान की फसल सूखकर झुलस गये थे खेतों में दरार आ गया था। किसानों में फसल को लेकर मायूसी छायी थी। किसान इंद्र की कृपा में आकाश के तरफ टकटकी लगा हुए थे। आरजू विनती से किसानों की आंखें फटी जा रही थी।

इंद्र ने इनकी विनती सुनी जरूर, लेकिन वर्षा का रौद्र रूप लाकर बौछारों से धरती पर पानी का सैलाब ला दिया। इस तबाही के मंजर में कितने लोगों के मिट्टी के घर धराशायी हो गये। हवा के तेज झोंके मेें धान के फसलों को जमीन पर लेटा दिया। किसान बतााते हैं कि धान के आलावे अरहर व अन्य फसलों को भी नुुकसान पहुुंचा। नदी, नाला व तालाब पानी से उफन गया। प्राकृतिक आपदाओं से सारा जन-जीवन अस्त- व्यस्त हो गया।