कृषि प्रसार की पाँचवी पीढ़ी में किसानों तक कृषि सूचनाओं को त्वरित रूप से पहुँचाने में आधुनिक सूचना तकनीक का उपयोग काफी बढ़ा है – डाॅ॰ प्रेम कुमार

80
0
SHARE

पटना – बिहार के कृषि विभाग मंत्री डाॅ॰ प्रेम कुमार ने कहा कि राज्य के किसानों द्वारा आधुनिक सूचना तकनीक के उपयोग करने से उनकी आमदनी में बढ़ोतरी होगी। कृषि क्षेत्र में उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि करने के लिए प्रौद्योगिकी हस्तांतरण महत्वपूर्ण है। इस क्षेत्र में सूचना प्रौद्योगिकी की अहम भूमिका है। इसके उपयोग से विभिन्न कृषि कार्यों को जल्दी एवं आसानी से किया जा सकता है। हमारी सरकार इसके लिए किसानों को जागरूक करेगी तथा उनके लिए हरसम्भव सहायता करेगी। सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से किसानों को मौसम पूर्वानुमान से अवगत कराया जाएगा। साथ ही, फसलों पर सम्भावित कीट व्याधियों एवं रोगों के बारे में भी पूर्व चेतावनी दी जाएगी। कृषि विभाग द्वारा किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसान आॅनलाईन आवेदन करेंगे एवं उन्हें अनुदान का भुगतान भी आॅनलाईन उनके खाते में किया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि कृषि प्रसार की पाँचवी पीढ़ी में किसानों तक कृषि सूचनाओं को त्वरित रूप से पहुँचाने में आधुनिक सूचना तकनीक का उपयोग काफी बढ़ा है। कृषि विभाग द्वारा विभागीय योजनाओं का लाभ लेने हेतु किसानों का आॅनलाईन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है। आधुनिक सूचना तकनीक में किसान काॅल सेन्टर के माध्यम से टाॅल फ्री न॰ 18001801551 पर कृषि विशेषज्ञों द्वारा किसानों को फसलों के बुआई से लेकर कटाई तक की जानकारी दी जा रही है। आधुनिक सूचना तकनीक को सुदृढ़ करने के लिए कृषि विभाग द्वारा राष्ट्रीय ई-गर्वनेंस परियोजना (कृषि) के अंतर्गत प्रमण्डल स्तर पर कम्प्यूटर प्रशिक्षण प्रयोगशाला की स्थापना की गई है, जिनमें सभी स्तर के पदाधिकारियों एवं प्रसार कार्यकत्ताओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। प्रखंड स्तर अवस्थित ई-किसान भवन पर कम्प्यूटर तथा इससे संबंधित उपस्कर उपलब्ध कराया गया है, जहाँ किसान उन सभी योजनाओं जिसमें आॅन-लाईल के माध्यम से आवेदन करना है, में इसका उपयोग कर सकते है।

डाॅ॰ कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत् एक सूचना क्रांति का सूत्रपात हुआ है, जिसमें किसानों के लिए ढे़र सारी सुविधाएँ उपलब्ध हो रही है। सूचना तकनीक का इस्तेमाल कर किसान अपने कृषि उत्पादों को देश एवं देश के बाहर चुनिन्दा मंडियों में अच्छे-से-अच्छे दाम पर बेच सकेंगे, जिससे उन्हें अधिक आय प्राप्त होगी।