केंद्रीय मंत्री मोतिहारी के पीड़ित युवती के परिजनों से मिलने असपताल पहुंचे

269
0
SHARE

पटना: केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह और मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा बिहार के पूर्वी चंपारण जिला के रमगढवा में दुष्कर्म के प्रयास एवं मारपीट से घायल युवती को देखने सदर अस्पताल पहुंचे।

जहां उन्होंने अस्पताल में बेहोश पड़ी पीड़ित युवती के परिजनों से घटना के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल की। केंद्रीय मंत्रियों ने कड़ी कार्रवाई और मामले का स्पीडी ट्रायल कराए जाने की मांग की है।

जमाई टोला गांव निवासी युवती ने अपने पडोसी समीउल्लाह पर गत 13 जून को उसके साथ दुष्कर्म करने का आरोप लगाया था जिसकी जानकारी उसने अपनी मां को दी और गत 15 जून को इस मामले में रामगढवा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

केन्द्रीय मंत्री राधामोहन ने इस वारदात की तुलना दिल्ली के निर्भया मामले से करते हुए कहा कि यह निर्भया कांड की पुनरावृत्ति है। उन्होंने आश्चर्य जताया कि घटना के पांच दिन बाद एफआईआर, दस दिन बाद मेडिकल एवं थाना के दारोगा का एफआईआर लेने से मना करना घोर आपत्तिजनक है।

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने पीड़िता के परिजनों को न्याय का भरोसा दिलाते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कठोर कार्रवाई का अनुरोध किया।

उन्होंने प्रदेश में वर्ष 2005 से ज्यादा स्थिति खराब होने का आरोप लगाते हुए कहा कि इन घटनाओं के बावजूद भी नीतीश सुशासन का दावा कर रहे हैं और वे मानने को तैयार नहीं कि राज्य में सुशासन नहीं है। यहां अपराधी बेलगाम है। इस मामले में पुलिस ने समीउल्लाह को छितौनी बस स्टैंड से कल गिरफ्तार कर लिया था।