केन्द्र के ‘ग्राम स्वराज्य अभियान’ से विपक्ष की नींद उड़ीः नंदकिशोर

114
0
SHARE

पटना- बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि बाबा साहेब भीमराम अम्बेदकर की 127वीं जयंती के अवसर पर भारत सरकार के 14 अप्रैल से शुरू हुए ‘ग्राम स्वराज्य अभियान’ ने विपक्षी दलों की नींद उड़ा दी है । बेचैन आत्मा की तरह भटक रही कांग्रेस ठौर की तलाश में है ।

यादव ने आज यहां कहा कि कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों ने आज तक बाबा साहेब का नाम सिर्फ वोट बैंक के रूप में भुनाती रही, दलितों, गरीबों और वंचित समाज के लोगों को बरगलाती रही । बाबा साहेब की स्मृति में कुछ किया नहीं । बाबा साहेब के प्रति शुरू से ही श्रद्धावनत भाजपा और केन्द्र सरकार की दलितों, वंचितों और गरीबों के लिए शुरू हुई व चल रही जन कल्याणकारी योजनाओं से तमाम विपक्षी दलों की इस वर्ग को लुभाने वाली दुकानदारी बंद हो रही है । मुद्दाविहीन विपक्ष अब आरक्षण के सवाल पर समाज में विभेद पैदा करने की कोषिष कर रहा है जिसमें उसे विफलता ही हाथ लगेगी । क्योंकि भारत सरकार आरक्षण के पक्ष में कठोर निर्णय के साथ खड़ी है ।

यादव ने कहा कि बाबा साहेब अम्बेदकर के सपने को साकार करने के लिए अनुसूचित जाति व जनजाति के लोगों के सशक्तिकरण के लिए कामन सर्विस सेंटर की शुरूआत व सवा दो लाख पंचायतों तक पहुंच, बाबा साहेब के जीवन से जुड़े पांच स्थानों को ‘पंचतीर्थ’ घोषित कर उसे विकसित करने का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अभियान, आयुष्मान भारत के जरिये देश के दस करोड़ गरीब परिवारों को पांच लाख तक बीमा सुरक्षा, महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा 70 लाख सौर ऊर्जा, लैंप योजना का शिलान्यास, उज्जवला योजना के तहत घर-घर गैस सिलेंडर आदि कुछ ऐसी योजनाएं हैं जो बाबा साहेब की जयंती को समर्पित हैं । न केवल बिहार बल्कि सम्पूर्ण देश में 14 अप्रैल से 5 मई 2018 तक ग्राम स्वराज्य अभियान चलेगा । जिसके तहत केन्द्र की जन कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी गांव-देहात तक जायेगी । पंचायतों में ग्रामीणों की चैपाल लगेगी जहां इसकी विस्तार से जानकारी दी जायेगी । केन्द्र के इस अभियान से अपने को अकेला पड़ता विपक्ष छटपटाहट और खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे की मुद्रा में है ।