कॉलेज की मान्यता रद्द होने पर आक्रोशित छात्रों ने थाने के सामने खड़ी वाहन को फूँका

496
0
SHARE

गया – हाई कोर्ट के आदेश के बाद मगध विश्वविद्यालय ने गया जिले के 28 कॉलेजों का मान्यता रद्द कर दिया। जिससे 86 हजार छात्र बीएससी पार्ट-3 के परीक्षा से हुए वंचित। उग्र छात्रों ने गया डोभी सड़क मार्ग को किया जाम।

आक्रोशित छात्रों ने पुलिस पर किया पथराव, मगध यूनिवर्सिटी थाना के सामने सरकारी बस को फूँका। छात्र 3 दिनों से मगध यूनिवर्सिटी गेट पर इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने 16 छात्रों को गिरफ्तार कर लिया उसके बाद पुलिस के खिलाफ छात्रों का गुस्सा फूटा। पहले गया डोभी सड़क मार्ग को जाम किया, जाम हटाने आ रही पुलिस बल पर पथराव कर खदेड़ा। फिर यूनिवर्सिटी गेट के पास बनी पुलिस शिविर में आग लगाई। वहां रखे पुलिसकर्मियों का सामान फेंका और मगध यूनिवर्सिटी थाने के सामने बिहार स्टेट परिवहन निगम की खड़ी बस के शीशे तोड़कर आग लगा दिया। थाने के अंदर से पुलिस देखती रही और बस धूं-धूं कर जलता रहा।

पिछले वर्ष ऐसे महाविद्यालय जिसकी सम्बद्धता नहीं थी और जहां से पूर्व से कार्य किया जा रहा था उसको बंद कर दिया गया था। उन सभी छात्रों को भी ध्यान में रखा गया है और उन सभी छात्रों को टैग कर के उनकी परीक्षा करने का प्रयास किया परन्तु कुछ महाविद्यालय के लोग चले गए न्यायलय में और उनका फैसला था कि ऐसे महाविद्यालय का परीक्षा और प्रकाशन न किया जाये। तो इसी के आदेश में मगध यूनिवर्सिटी के अंतर्गत कुल 28 कॉलेजो की मान्यता रद्द की गयी थी।