कोतवाली थाना के पीछे मो. तबरेज आलम हत्याकांड मामले में पुलिस को मिली सफलता

154
0
SHARE

पटना – कल दिनदहाड़े कोतवाली थाना के पीछे मो. तबरेज आलम की हत्या मामले में पटना पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. तबरेज की हत्या की प्लानिंग रचने वाले एक अपराधी को एसएसपी मनु महाराज की टीम ने धर दबोचा है. गिरफ्तार किया गया अपराधी मो. तबरेज आलम की हत्या कांड का किंगपिन बताया जा रहा है. तारिक मल्लिक का नाम भी जहानाबाद के ही जायका रेस्टुरेंट के मालिक से 2 करोड़ की रंगदारी मांगे जाने के मामले में भी सामने आ चुका है.

दरसल कोतवाली थाना के पीछे शुक्रवार को हुए वारदात के बाद से ही पटना पुलिस की टीम लगातार कई जिलों में एक साथ छापेमारी कर रही थी और सोर्स से मिले इनपुट के आधार पर जहानाबाद में तारिक मालिक को गिरफ्तार कर लिया गया.

वहीं इस मामले में पटना पुलिस को एक और सफलता मिली है. दरसल जिस बाइक से अपराधी आये थे और तबरेज को गोली मारकर फरार हुए, उस ब्लू कलर की पल्सर बाइक को भी बरामद कर लिया गया है.

वही इस हत्याकांड पर बोलते हुए एसएसपी ने कहा कि भागने के क्रम में दोनों अपराधियों ने बाइक को अदिति कम्युनिटी हॉल के बगल से जाने वाले रास्ते में एलआईसी बिल्डिंग से पहले छोड़ दिया था और ये पूरा वाक्या सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया था. जब पुलिस ने छानबीन शुरू की तो बाइक लावारिस हालात में मिली और जब पुलिस ने गाड़ी की जांच में जो बात सामने आई, उसके अनुसार बरामद पल्सर बाइक चोरी की है. बाइक का इंजन और चेचिस नम्बर मिटा हुआ पाया गया है. अब इस मामले में एफएसएल टीम की मदद ली जा रही और इसी बाइक हो तबरेज हत्याकांड में इस्तेमाल किया गया था.

एसएसपी ने बताया कि मो. तबरेज आलम की हत्या के लिए अपराधियों ने खास प्लानिंग की थी वहीं हत्या में शामिल बाकी के अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए पटना पुलिस की टीम अब भी कई जगहों पर लगातार छापेमारी कर रही है.