कोसी त्रासदी मानव भूल !

420
0
SHARE

कोसी त्रासदी के जाँच आयोग की रिपोर्ट विधान सभा में रखी गई 

पटना उच्च न्यायालय के आवकाश प्राप्त मुख्य न्यायाधीश राजेश बालिया की अध्यक्षता में गठित कोसी बांध के टूटने की न्यायिक जाँच आयोग की रिपोर्ट 01-08-2014 को विधान सभा में रखी गई । आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मॉनिटरिंग सेल की खराब प्रबंधन की वजह से बांध का कटाव हुआ जो कोसी त्रासदी के लिये जिम्मेवार है । मालुम हो कि 18 अगस्त,  2008 को बांध टूटा था जिसमें सैकड़ों लोगों की जान गयी ओर हजारों बेघर हुए । 2008 में जांच के लिए आयोग का गठन किया गया था। आयोग ने बाढ़ नियंत्रण में लगी इकाईयों  पर प्रश्न चिन्ह खड़ा करते हुए कहा है कि गंगा बाढ़ नियंत्रण आयोग, कोसी उच्चस्तरीय  समिति  तथा अनुवीक्षण दल के स्तर से कटाव निरोधक कार्यों की सही से मॉनिटरिंग नहीं की गई। चेतावनी व्यवस्था पर प्रश्न खड़े किये गए। अनुभवहीन व अकुशल अभियंता को वीरपुर स्थित कार्यालय पर कटाव निरोधक एवं बाढ़ संघर्षात्मक कार्य  में लगा दिया गया। साथ ही आयोग ने पिछले पाँच  वर्षों में जल संसाधन के वीरपुर कर्यालय से कराए गए कटाव निरोध कार्यो की जाँच कराई जाए इसकी मांग की है ।