क्यों पुलिस के गिरफ्त से बाहर है केंद्रीय मंत्री का बेटा

235
0
SHARE

पटना- बीते 17 मार्च को विक्रमी संवत प्रतिपदा के अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित ने बिना इजाजत जुलूस निकाला था और उसके साथ बजरंग दल, आरएसएस, और बीजेपी, के लोग भी शामिल थे। भागलपुर के नाथपुर इलाके में साम्प्रदायिक तनाव फैल जाने से वहां दंगे की स्थिति उत्पन्न हो गई हालांकि अभी भी वहाँ की स्थिति ठीक नहींं हुई है। इस साम्प्रदायिक तनाव के बाद पुलिस ने नाथनगर थाना में अर्जित के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज कराया था।

भागलपुर कोर्ट के द्वारा अर्जित शाश्वत खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करने पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने अपने बेटे के बचाव में कहा की अर्जित ने कोई गंदा काम नहीं किया है इसलिए वो सरेंडर नहीं करेगा ? चौबे ने एफआईआर को झूठ का पुलिंदा करार देते हुए कहा कि अर्जित कही छुपा हुआ नहीं है।

वहीं अर्जित का कहना है कि वे शोभायात्रा में थे लेकिन जिस वक्त वे वहां से निकले उसी समय हादसा हो गया। शाश्वत ने कहा कि वो कोर्ट में अपने खिलाफ लगे आरोपों के खिलाफ अपील करेंगे। बता दें कि हाल ही में अर्जित समेत 9 लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। नाथनगर इंस्पेक्टर के आवेदन पर एसीजेएम कोर्ट ने ये वारंट जारी किया है। ​इससे पहले केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के पुत्र अर्जित शाश्वत अपने उपर लगे आरोपों की सफाई दी थी।

अर्जित ने कहा कि पुलिस ने अपनी विफलता छिपाने के लिये मेरे उपर एफआईआर किया है। अर्जित ने कहा कि 17-18 मार्च को प्रशासन को सूचना देकर नव वर्ष के लिए दो दिन का कार्यक्रम रखा गया था। उसी दौरान भारत माता के रूप में एक बच्ची की पूजा कर शोभा यात्रा निकली गयी थी। 200 मोटर साइकिल पर बच्चें, युवा और बुजुर्ग सवार थे।

इसी मामले को लेकर नेता विरोधी दल के नेता तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर बोला हमला

तेजस्वी यादव ने कहा की केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के दंगा आरोपित बेटे ने नीतीश कुमार की क़ानून व्यवस्था को एकदम नंगा कर दिया है। एक तरफ़ नीतीश सरकार उसके ख़िलाफ वारंट निकलवा रही है तो दूसरी तरफ वह पटना में खुलेआम तलवार हाथों में लिए घूम रहा है और नीतीश के क़ानून के राज को ज़ोरदार लात मार रहा है। बिहार के ढोंगी व पाखण्डी मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के दंगाई सुपुत्र पर दिखावटी ‘अरेस्ट वारंट’ निकाल रखा है लेकिन वह पटना में CM आवास के बग़ल में ही BJP विधायकों की मौजूदगी में तलवार थामे Facebook Live कर रहा हैं।