खिलाड़ियों को करोड़ो और देश पर मिटने वालों को सिर्फ लाख : मांझी

699
0
SHARE

गया: हम पार्टी के संयोजक और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी बुधवार को उरी में शहीद हुए गया के सुनील कुमार विद्यार्थी के परिजनों से मिलने बोकनारी पहुंचे। उन्होंने शहीदों के परिवार को दी जाने वाली मदद राशि को लेकर सवाल उठाया है।

जीतनराम मांझी ने शहीद के परिजनों से मुलाकात की और परिवार को ढाढस बंधाया। उन्होंने कहा कि गया के बेटे की शहादत पर हमें गर्व है। मांझी ने कहा कि मोदी जी को पाक को उसकी भाषा में ही सबक सीखाने की जरूरत है ताकि आतंकवाद और सीमा पर होने वाले हमलों का उसे करारा जवाब मिल सके। उन्होंने कहा कि 120 राष्ट्र में 118 राष्ट्र मानते हैं कि पाकिस्तान आतंकियों को सरंक्षण देता है।

जीतन राम मांझी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को करोड़ो रुपये दिये जाते हैं और देश को बचाने और देश के लिए अपनी जान गंवाने वाले शहीदों को मात्र लाखों रुपए। मांझी ने कहा कि इस असमानता को दूर करने की जरूरत है।

नीतीश कुमार को निशाने पर लेते हुए मांझी ने कहा कि शहीद जवान को दूसरे राज्यो मे 20 लाख रुपये दिये जा रहे हैं जबकि बिहार में मात्र 11 लाख रूपए जो कि बहुत कम है। मांझी ने इसे 50 लाख रुपए करने की मांग की।

शहीद के पिता मथुरा यादव ने भी कहा कि जो भी नेता आते हैं वो सिर्फ आश्वासन दे कर चले जाते हैं जबकि हमें आर्थिक मदद की भी जरूरत है। शहीद के पिता ने कहा कि नेता लोग सिर्फ आश्वासन देते हैं लेकिन जमीन पर कोई काम नहीं हो पा रहा है।