खेतों में लोटा लेकर जाने वाले हो जायें सावधान!

477
0
SHARE

हाजीपुर – अगर आप लोटा या डब्बा में पानी लेकर खेतों में शौच के लिए जा रहे हैं तो सावधान हो जाईए। बिहार के गांव-गांव तक पहुँच चुके स्वच्छताग्रही अहले सुबह हो या शाम ढलने के बाद रात हाथों में टॉर्च लिए आपको ढूंढते मिल जाएंगे। भले ही आपको जोर की लगी हो मगर उस दौरान जब आप काफी प्रेशर में रहते हैं तभी आपको खेतों में शौच करने के नुकसान के बारे में बताएंगे। साथ ही आपको शौचालय बनवाने के लिये दबाव भी डालेंगे ताकि आप जल्द से जल्द शौचालय बनवा लें। अब आप ही बताये भला इतने प्रेशर में कौन होगा जो शौचालय बनवाने की हामी नहीं भरेगा।

दरअसल चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री के बिहार आगमन को लेकर पूरे बिहार में स्वच्छता का अलख जगाने पूरे देश से स्वच्छताग्रहियों की अलग-अलग टीम अलग-अलग जिलों में पहुँच चुकी है। वैशाली के जंदाहा प्रखंड में भी उत्तर प्रदेश के बुलंद शहर से आयी 24 सदस्यीय टीम 5 भागों में बँटकर आजकल हाथों में टॉर्च लेकर अहले सुबह और शाम ढलते ही खेतों में शौच करने जाने वालों को रोक कर खेतों में शौच करने का नुकसान समझाती-बुझाती शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित करती नजर आ जायेगी।

इस काम में स्थानीय जनप्रतिनिधि और प्रखंड कार्यालय के कर्मचारी और खुद बीडीओ भी सक्रिय रूप से उपस्थित होकर सहयोग कर रहे हैं। बुलंद शहर से आने वाली 24 सदस्यीय टीम ने पहले जंदाहा बीडीओ, कर्मचारियों, स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर वहाँ के भौगोलिक, आर्थिक पेशा, शिक्षा और ग्रामीणों को आम-तौर पर होने वाली बीमारी के बारे में जानकारी ली और तब ग्रामीणों के खेतों में टॉर्च लेकर पहुँच उनको शौचालय बनवाने के लिए प्रेरित भी किया और दबाव भी बनाया।