गंगा की निर्मलता के बगैर उसकी अविरलता की कल्पना संभव नहीं- नीतीश कुमार

302
0
SHARE

पटना/ संवाददाता-

गंगा के अविरल प्रवाह को बनाये रखने और उसमें जमती जा रही गाद की समस्या पर आज से दो दिवसीय सेमिनार राष्ट्रीय राजधानी के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में हो रहा है। इस सेमिनार का आयोजन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल पर बिहार सरकार का जल संसाधन विभाग कर रहा है। इस सेमिनार का उदघाटन नीतीश कुमार ने दीप जलाकर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि गंगा की हालत आज खराब होती जा रही है। उन्होंने गाद की समस्या पर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि गंगा की निर्मलता बिना उसकी अविरलता के संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि 10 सालों में गंगा की स्थिति बदली है। उन्होंने कहा कि बचपन में वे सप्ताह में एक बार गंगा में जरूर नहाते थे। इस सेमिनार में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद, अन्ना हजारे, जीडी अग्रवाल, पानी के लिए काम करने वाले राजेंद्र सिंह व वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश शामिल हो रहे हैं, जो अलग-अलग सत्र में अपने विचार रखेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता बिहार सरकार के जल संसाधन मंत्री राजीव रंजन सिंह कर रहे हैं। इस सेमिनार के माध्यम से नीतीश कुमार गंगा में जमा हो रही गाद व उससे उत्पन्न होने वाली समस्या को राष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश करेंगे, जिस पर वे पिछले कुछ सालों से लगातार बात कर रहे हैं।