गंगा के घाट पर उमड़ा छठ व्रतियों का जनसैलाब

301
0
SHARE

पटना: सूर्योपासना का महापर्व छठ उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही चार दिन तक चलने वाले लोक आस्था के महापर्व का समापन हो गया है। सोमवार सुबह पटना में गंगा के घाट पर जनसैलाब उमड़ पड़ा। हल्की ठंड और कोहरे की धुंध के बीच व्रतियों ने गंगा के पानी में उतरकर भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया।

गंगा के घाट पर अधिक भीड़ के चलते लोग धीरे-धीरे निकल रहे हैं। यहां प्रसाद भी बांटा जा रहा है। इस मौके पर प्रसाद बांटने और मांग कर खाने का भी अपना महत्व है। ऐसी मान्यता है कि प्रसाद खाने वाले को भी छठी मईया और भगवान सूर्य का आशीर्वाद मिलता है। वहीं, प्रसाद बांटने वाले को भी छठी मइया की कृपा मिलती है।

इससे पहले रविवार को गंगा के घाटों पर पूजा के लिए श्रद्धालुओं की तादाद काफी ज्यादा रही। व्रतियों ने गंगा में उतरकर सूर्य की पूजा की। महिलाएं फल और पूजा सामग्री लेकर पूजा के लिए पहुंचीं।

छठ पूजा देखने के लिए राज्यपाल रामनाथ कोविंद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद रहे।

ऊं सूर्याय नम: मंत्रोच्चार करते हुए सूर्य को जल अर्पित कर भगवान को नमन करना चाहिए। सुबह के समय गाय के दूध और शाम को गंगाजल के साथ अर्घ्य दिया जाता है।

अर्घ्य देते समय तांबे के बर्तन में दूध से अर्घ्य नहीं देना चाहिए। तांबे की बजाए पीतल के बर्तन में दूध डालकर अर्घ्य दिया जा सकता है। स्टील, प्लास्टिक, कांच या चांदी के बर्तन से भी अर्घ्य नहीं देना चाहिए।