अस्पताल में लापरवाही की हद, गया मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अब चूहे खाने लगे मुर्दे

191
0
SHARE

गया – अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में रखे गये एक मुर्दे का कान रात में चूहों ने कुतर डाला। केन्दुई निवासी राजकुमार सिन्हा ने अपने पिता को भर्ती कराया था जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। उनकी लाश को अगले दिन शुक्रवार को पोस्टमार्टम के लिए रखा गया था मगर सुबह उनके कान कुतरे हुए मिले। इसका पता उस समय लगा जब उनके पार्थिव शरीर को पोस्टमार्टम हाउस ले जाया जाने लगा।

मृतक के पुत्र विकास सिन्हा ने बताया कि उनके पिता को यहाँ जहरखुरानी के इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। इमर्जेंसी वार्ड में उनकी शाम में मौत हो गयी। इसके बाद उनके पोस्टमार्टम के लिए अगले दिन का समय दिया गया। उस वक्त तक उनके पार्थिव शरीर पर कोई निशान नहीं था। परिजन ने शव को अस्पताल परिसर में ही छोड़ दिया। उनका आरोप है कि सुबह शव को पोस्टमार्टम हाउस ले जाने के लिए वे आये तो मृतक के कान कुतरे मिले। इसके अलावा उनके सिर पर भी काटे जाने के निशान मिले।

इस सम्बंध में प्रभारी उपाधीक्षक डॉ0 नन्द किशोर पासवान ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद जब मृतक के शव की जांच की गई तो उनके कान पर तीन जगह कुछ कटे-कटे निशान दिखे, जो चूहों के कुतरने जैसा लग रहा था। शव में सिर फटने जैसा कुछ नहीं दिखा। अस्पताल का शीत गृह भरा रहने के कारण मृतक का शव बाहर बरामदे में रखवाया गया था। हो सकता है रात के समय चूहे ने लाश के कान कुतरे हों।