गोरे लोगों को ही सुंदर क्यों समझते -नवाजुद्दीन सिद्दीकी

319
0
SHARE

फ़िल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने सवाल उठाया काले रंग के लोगों के प्रति पूर्वाग्रह की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि एक फ़िल्म के कास्टिंग डायरेक्टर के कथित बयान के बाद आपत्ति जताते हुए कहा ‘बाबु मोशाय बंदूक बाज ‘ के कास्टिंग डायरेक्टर संजय चौहान ने कहा था अभिनेता के साथ काले रंग लोगों का कास्ट नही कर सकते ।

चौहान ने एक इंटरव्यू में कहा था कि चित्रांगदा सिंह के फ़िल्म छोड़ने के बाद वे ऐसी अभिनेत्री चाहते है जो सिद्दीकी के सामने ठीक लगे क्योंकि नवाज के साथ आप गोरे और सुंदर लोगों को किरदार नही दे सकते। नवाजुद्दीन ने कहा यह बहुत अजीब लगा। सिद्दीकी ने ट्वीट कर कहा ” मुझे यह अहसास दिलाने के लिए शुक्रिया कि गोरे और सुंदर लोगों के साथ मुझे काम नही दिया जाएगा क्योंकि मैं काला और दिखने में बहुत अच्छा नही हूँ लेकिन मैंने उसपर कभी ध्यान नही दिया”।

सिद्दीकी ने गोरे को सुंदर बताए जाने वाली धारणा की आलोचना किया। सिद्दीकी ने कहा लोगों की अपनी धारणाएं है अगर कास्टिंग डायरेक्टर को लगता है कि वह मेरे साथ गोरे और सुंदर लोगों को नही रख सकते तो यह उनकी समस्या है। मुझे कोई मतलब नही की कोई मेरे रूप रंग के बारे में क्या सोचते है लेकिन ऐसी चीजों से हमे ठेस पहुंची है। यह भावना सिर्फ फ़िल्म उधोग में ही नही हैं। ऐसा तो पूरे देश में ऐसा होता है।