जंगली हाथी के हमले से हवलदार की मौत

414
0
SHARE

कैमूर- जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र के जंगली इलाकों में हाथी के देखे जाने के बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी थी। जहां वन विभाग 3 दिनों से हाथी को पकड़ने के लिए जंगली इलाकों में तलाशी कर रहा था। वहीं आज देर शाम बूचा डैम के पास हाथी के देखे जाने की सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दिया।

वन विभाग की टीम जब डैम के आसपास खोज कर रही थी, उसी समय वन विभाग के हवलदार नसीरुद्दीन ने किसी तरह डैम के पास अकेले जैसे ही पहुंचे, उसी समय हाथी अचानक उनके ऊपर हमला बोल दिया और उनका जान ले ली। इस घटना के बाद साथ रहे टीम के सदस्यों ने नसीरुद्दीन को सदर अस्पताल भभुआ लाया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। नसीरुद्दीन के मौत के सूचना मिलने के बाद डीएफओ सत्यजीत कुमार सहित सभी वनकर्मी सदर अस्पताल में पहुंचे।

जहां डीएफओ सत्यजीत कुमार ने बताया की सूचना पर हमारी टीम के लोग बूचा डैम के पास गए थे। जहां हवलदार नसीरुद्दीन किसी कारणवश अकेला कुछ दूर चला गया। जिसे हाथी ने अचानक से वार कर मार दिया। वरीय अधिकारियों से वार्ता हुई है। जंगली जानवर के मारे जाने पर पांच लाख रूपया मुआवजा देने का प्रावधान है। इनके परिवार को भी मुआवजा देने के लिए वरीय पदाधिकारियों से अनुशंसा किया गया है। लोगों को हिदायत दिया गया है कि वह घरों से बाहर जंगली इलाकों में ना जाए। शाम होते ही घरों में चले जाएं। हाथी को पकड़ने के लिए बाहर की टीम आई हुई है बहुत जल्द पकड़ा जाएगा ।