जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद को किया गया बर्खास्‍त

231
0
SHARE

पटना : पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के चुनाव में संगठन विरोधी गतिविधियों में शामिल होकर अनुशासनहीनता का काम करने के आरोप में जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद पर बड़ी कार्रवाई हुई। उन्‍होंने प्रदेश अध्‍यक्ष पद से बर्खास्त कर दिया गया है, हालांकि गौतम आनंद को पार्टी से नहीं निकाला गया है।

गौतम आनंद पर जन अधिकार पार्टी (लो) के नेताओं की बैठक में लिए गए प्रस्ताव के आलोक में तथा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के निर्देशानुसार जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष गौतम आनंद को उनके पद से बर्खास्त किया गया है़। इस बाबत पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रभारी राजेश रंजन उर्फ़ पप्पू ने कहा कि संगठन में किसी भी सूरत में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर किसी को कोई नाराजगी थी, तो उन्‍हें पार्टी फोरम में बातें रखनी चाहिए थीं। लेकिन गौतम आनंद समेत जिस तरह से पार्टी विराधी काम करने के बाद भी अपना स्‍पष्‍टीकरण देना जरूरी नहीं समझा, वह अनुशासनहीनता थी। इसके बाद पार्टी के पास उनपर कार्रवाई की विकल्‍प था।

बता दें कि शुक्रवार रात को छात्र संघ चुनाव में संगठन विरोधी गतिविधियों में शामिल होकर अनुशासनहीनता का काम करने के आरोप में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रिया राज और प्रदेश महासचिव नीरज कुमार समेत 10 नेताओं को भी संगठन की प्राथमिक सदस्यता से बर्खास्त कर दिया गया था, लेकिन आज गौतम आनंद को सिर्फ प्रदेश अध्‍यक्ष के पद से बर्खास्‍त किया गया है। वहीं, रोहन कुमार, प्रदेश सचिव कुशाग्र, आर्यन, लालू, प्रेम कुमार, रोहित कुमार, सनी सिंह सहित पटना विश्वविद्यालय जन अधिकार छात्र परिषद के अध्यक्ष पिंटू कुमार को पद और संगठन की प्राथमिक सदस्यता से शुक्रवार देर रात ही बर्खास्त कर दिया गया था।

3 Attachments