जब अपनों ने धकेला जिस्मफरोशी के धंधे में…

838
0
SHARE

सहरसा: बिहार के मधुबनी जिला के अंधराठाढ़ी की रहने वाली 24 साल की पिंकी कल्पकनिक नाम कभी जिंदगी में भी नहीं सोची होगी कि जिस शख्स को अपनी जिंदगी का सरताज बनायी वही जिंदगी को दोजख बनाकर रख देखा। और जिस्मफरोशी के काल कोठरी में धकेल कर अपनी मौजमस्ती के खातिर उसे कई शौकीनों के हवाले कर जिस्म के बाजार में हमबिस्तर होने को मजबूर कर देगा।

सहरसा थाना के बटराहा मोहल्ले का रहनेवाले तीस वर्षीय युवक विजय ने पिंकी से शादी कर उसे महज छह महीने तक पत्नी का सुख देकर जीवनभर के लिए जिस्मफरोशी के अलग अलग शहर जयपुर से राजस्थान, सहरसा तो कभी किसी शहर में मर्दों से हमबिस्तर होना पड़ता। इसके ऐवज में मोटी रकम की उगाही लगभग चार साल से करता रहा।

इसी कड़ी में जब कभी सहरसा आता तो महीनों भर सहरसा के डीबी रोड स्तिथ सहरसा गेस्ट हाउस के संचालक विनोद दास और उसके गुर्गा लक्ष्मण के साथ मिलकर पिंकी से देह व्यापार करवाता था। पिंकी जब गर्भवती होती थी तो चाय में दवा देकर गर्भपात कर देता था।

पिंकी से जिस्मफरोशी करवा कर विजय और गेस्ट हाउस के संचालक विनोद दास ने चार साल में लगभग छह लाख रुपये कमाये। शनिवार रात लगभग आठ बजे पिंकी को एक बार फिर किसी मर्द के साथ हमबिस्तर होना था। लेकिन पिंकी ने सबसे नजर बचाकर गेस्ट हाउस में शोर मचाने लगी। उनकी मदद के लिए सदर थाना के पुलिस पहुंच गए। सदर थाना में पिंकी ने जिस्म के सौदागर के खिलाफ रोंगटे खड़े करने वाले बयान दी।

पुलिस ने पिंकी के बयान को कलमबंद कर गेस्ट हाउस में छपमारी की। विजय समेत गेस्ट हाउस के संचालक विनोद दास और उसके गुर्गे लक्षमन को मौके से किया गिरफ्तार कर लिया।