जब डॉक्टर ने कर दिया जिंदा युवक को मृत घोषित..

850
0
SHARE

किशनगंज: बिहार के किशनगंज जिले के बहादुरगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार को एक करंट लगे युवक इलाज के लिये पहुंचे तो डॉक्टर ने इलाज करने से पूर्व ही मृत घोषित कर दिया। परिजनों को महसूस हुआ की युवक जिंदा हैं। इलाज में देर होने पर युवक की मौत हो गई। मौत के बाद लोगों ने जमकर बवाल काटा एवं अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ आगजनी की।

आक्रोशित लोगों ने मृत घोषित किये डॉक्टर डॉ. सोहेल अहमद खान को ढूंढ़ा, लेकिन डॉक्टर उस समय अस्पताल से निकल गए थे। मौजूदा डॉक्टर निसार के साथ धक्का-मुक्की के बाद लोगों ने खदेड़ दिया। लोगों ने बाइक फूंक दी। मौके पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सोहेल अहमद खान की पल्सर बाइक को आग के हवाले कर दिया।

घटना नगर पंचायत वार्ड नंबर 11 की है जब वार्ड नंबर 7 निवासी वरुण दास का 22 वर्षीय पुत्र गोविंद कुमार एक शिक्षक के घर पर ग्रिल पेंट कर रहा था तभी बिजली करेंट की चपेट में गया। आननफानन में लोगों ने बहादुरगंज अस्पताल ले गया, जहां मौजूद डॉक्टर ने मरीज को मृत घोषित कर दिया।