जिलाधिकारी ने दीपावली पर्व को लेकर पदाधिकारियों को कई बिन्दुओं पर कार्रवाई करने का दिया निर्देश

381
0
SHARE

पटना – जिलाधिकारी कुमार रवि ने दीपावली पर्व के अवसर पर विधि-व्यवस्था संधारण हेतु सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को अहम निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी से कहा कि पटाखा के भंडारण एवं बिक्री हेतु विस्फोटक अधिनियम-1884 (यथासंशोधित) एवं विस्फोटक नियमावली 2008 के आलोक में अनुज्ञप्ति प्राप्त किये बिना किसी भी व्यक्ति के द्वारा पटाखा की बिक्री एवं भंडारण अधिनियम एवं नियमावली का उल्लंघन है और इसके लिए कानूनी कार्रवाई किये जाने का प्रावधान है।

उक्त परिपे्रक्ष्य में जिलाधिकारी ने कहा कि मानव जीवन एवं संपत्ति को पटाखों के असुरक्षित भंडारण एवं बिक्री से होने वाली किसी भी दुर्घटना से बचाने के लिए उक्त अधिनियम एवं नियमावली में निहित प्रावधानों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।

जिलाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी, पटना सिटी, अधीक्षक पी0एम0सी0एच0, अधीक्षक एन0एम0सी0एच0, उपाधीक्षक, गुरू गोविन्द सिंह अस्पताल पटना सिटी एवं जिला अग्निशाम पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि खाजेकला थाना अंतर्गत पश्चिम दरवाजा से लेकर मच्छरहट्टा तक सड़क के दोनों तरफ काफी संख्या में गैर अनुज्ञप्तिधारियों द्वारा पटाखों की दुकानों लगाई जाती है तथा अधिकांश दुकानदारों के पास ज्वलनशील पटाखों को बुझाने हेतु पानी एवं बालू नहीं रहता है। फलस्वरूप आग लगने की प्रवल संभावना बनी रहती है। इस संबंध में निम्नांकित बिन्दुओं पर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया।

1. गैर अनुज्ञप्तिधारी पटाखा विक्रेताओं पर नियमानुकूल कार्रवाई सुनिश्चित किया जाना है।

2. जिला में प्रतिनियुक्त फायर ब्रिगेड के यूनिट को तैयारी हालत में रहने की आवश्यकता है।

3. इन त्योहारों के अवसर पर अस्पतालों में ज्वलनशील पटाखों से जलने पर उपयोग में आनेवाली आवश्यक दवायें एवं चिकित्सकों के साथ पर्याप्त संख्या में पारा मेडिकल कर्मियों को उपलब्ध रहने के साथ-साथ अलर्ट पर रहने की आवश्यकता है।

जिलाधिकारी ने असैनिक शल्य चिकित्सक-सह-मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, पटना को निर्देश दिया कि दीपावली पर्व के दौरान आम लोगों के द्वारा पटाखों का उपयोग किये जाने से कभी-कभी दुर्घटना की भी संभावना बनी रहती है। ऐसे विपरीत परिस्थिति से निपटने हेतु एवं अस्पतालों में समुचित व्यवस्था सुनिश्चित किया जाय।