जेडीयू की ये फितरत नहीं कि वो ‘नीच पॉलिटिक्स’ करें : संजय सिंह

530
0
SHARE

पटना – जेडी(यू) मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने बयान जारी करते हुए कहा है कि तेजस्वी यादव जी, विपक्ष के नेता होने का ये मतलब नही की किसी भी बात का विरोध कीजिये। विरोध करने का लॉजिक भी तो होना चाहिए। लेकिन आप तो सरकार के हर काम ‘विरोध पॉलिटिक्स’ कर रहे है। पटना की सड़कों पर यदि गुंडागर्दी कोई भी करे तो प्रशासनिक महकमा स्वतंत्र है कि वो कड़े कदम उठाये। आपको यदि उनसे इतनी सिम्पैथी है तो आपभी उनके धरना प्रदर्शन में आकर शामिल हो जाइये। जेडीयू की ये फितरत नहीं कि वो ‘नीच पॉलिटिक्स’ करें।

उन्होंने कहा है कि तेजस्वी यादव जी, आप अपना सोचिये और अपने परिवार का। क्योकि बिहार के लोगो के बारे में नीतीश कुमार काफी सोचते है और उसी सोच के तहत बिहार विकास कर रहा है। अब बिहार को भी केवल नीतीशे कुमार पसन्द है। यहां सिर्फ नीतीश मार्का ही चलेगा। क्योकि ये टेस्टेड है। लालू मार्का तो नकली और भ्रष्ट होने की गारंटी है।

जेडी(यू) प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी यादव जी, सुबह से भूला होने के बावजूद जो देर रात तक वापस ना आये वहीं आप हैं। भ्रष्टाचार के परिवेश में आपका जन्म हुआ, भ्रष्टाचार में ही आपकी जवानी गुजर रही और भ्रष्टाचार के कारण ही आपका बुढापा बर्बाद कैद में बीतेगा। भई, अब जैसी करनी वैसी भरनी। जो पाप किये गई उसकी सजा तो मिलेगी ही।

उन्होंने कहा है कि तेजस्वी जी, भ्रष्टाचार से भी बड़ा कोई संक्रमण होता है क्या? आपका तो पूरा परिवार ही इससे संक्रमित है। इंफेक्शन इतना ज्यादा है की पहली पीढ़ी के सज़ायाफ्ता होने के बावजूद नई पीढ़ी सुधरने को तैयार नहीं है। अंत मालूम है लेकिन वर्तमान में बदलाव का प्रयास रत्ती भर भी नहीं है। आने वाली पीढ़ी आपको कभी माफ नहीं करेगी । धन अर्जित करने के आपके तरीके से आपकी आने वाली पीढ़ी बर्बाद हो जायेगी।

प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी यादव जी, आपके मुंह से समाज के अंतिम व्यक्ति तक न्याय पहुंचाने की बात अच्छी नहीं लगती। अंतिम व्यक्ति की उम्मीदों को तार तार कर आपके परिवार ने केवल अपना उल्लू सीधा किया है। 15 साल के शासनकाल में समाज का अंतिम व्यक्ति एक पायदान भी ऊपर नहीं चढ़ सका। 1990 से 2005 तक लालू परिवार के अलावा बिहार में कोई तरक्की किया है तो उसका नाम बताए ? हालत तो ये है लालू परिवार से बिहार में कोई बड़ा जमींदार नहीं है।

उन्होंने कहा है कि तेजस्वी जी, हद है जिनका शोषण किया उन्हीं की आज आपको फ़िक्र हो रही है। अल्पसंख्यकों, महिलाओ, युवाओं, और किसानों की झूठी आवाज बनने का दिखावा मत करिए। पहले यह तो बताइए कि आपके परिवार ने सत्ता में बैठकर इनके लिए क्या किया? अगड़ा -पिछड़ा , हिन्दू- मुस्लिम करके पुरे 15 साल को बर्बाद किया है लालू परिवार ने। यदि कुछ भी काम किया होता तो आज बिहार की सूरत कुछ और होती।