जेल में बैठ कर ज्ञान बाच रहे हैं लालू- संजय सिंह

150
0
SHARE

पटना- जेडी(यू) मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा कि लालू यादव, जेल में बैठकर ज्ञान मत बघारिये । ऐसा नहीं कि आपको ये मौक़ा नहीं मिला था। लेकिन आपने अपने कुर्सी को ज्यादा महत्त्व दिया। यूपीए शासनकाल में अन्य राज्यों को विशेष राज्य दर्ज़ा मिलता रहा। लेकिन आपने केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने का साहस नहीं जुटाया, क्योंकि आपको तो कुर्सी से मतलब था। आप इतने ताकतवर थे कि आधी रात में बिहार में राष्ट्रपति शासन लगवा देते थे, लेकिन कभी आपने बिहार के विकास के लिए केंद्र सरकार के सामने एक मांग तक नहीं रखी। क्योंकि बिहार का विकास आप चाहते ही नहीं थे। अब जेल में बैठ कर ज्ञान बाच रहे है ।
लालू यादव, पूछा आम और बता रहे इमली। पहले ये तो बताइए कि 2004 में आपके केंद्रीय मंत्री रहते राबड़ी देवी जी ने विशेष दर्ज़े की मांग क्यों नहीं कि? क्यों नहीं यूपीए 1 की सरकार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्ज़ा दिया? आपने बिहार में कभी विकास को महत्व दिया ही नहीं। आप नहीं चाहते थे कि बिहार तरक्की करें। बिहार में सब कुछ बेहतर हो। लालू, आप सिर्फ अपनी राजनीति को महत्व देते रहे और अपने परिवार को महत्व देते रहें। बिहार का विकास कभी आप के एजेंडे में था ही नहीं ।

लालू यादव, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2005 से लगातार विशेष दर्ज़े की मांग मजबूती से रखी। लेकिन आपने ईर्ष्या की वज़ह से बिहार का भला नहीं होने दिया। यूपीए 1 से यूपीए 2 तक आपने बिहार के विकास में अड़ंगा लगाया। बिहार के लिए कभी आपने ना तो विशेष पैकेज की मांग की, न विशेष राज्य के दर्जे की मांग की। लगातार आप केंद्र में मंत्री रहे, लेकिन कभी भी बिहार में ऐसी कोई परियोजना लेकर नहीं आए, जिससे यहां के लोगों को रोजगार मिले और लोग बेहतर जीवन जी सकें। आपने कभी भी यहां के लोगों का विकास नहीं चाहा।

लालू, पहले ये बताइए कि नीतीश की मांग पर विशेष दर्ज़े के आकलन के लिए यूपीए शासनकाल में बनी मंत्री समूह ने अपनी रिपोर्ट में क्या कहा? आपकी समर्थन वाली केंद्र सरकार ने 2013 में किन कारणों से बिहार का दावा ख़ारिज किया? आखिर कोई तो आधार होगा बिहार को विशेष राज्य दर्जा ना मिलने में। खैर, आप की इतनी औकात नहीं थी आप विशेष राज्य का दर्जा बिहार को दिला पाते। लेकिन विशेष पैकेज तो दिला ही सकते थे। लालू आप कहते थे कि आप यूपीए में सबसे मजबूत आधार रखते है, लेकिन क्या ये सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए नहीं था ?

नकारात्मक राजनीति आप करते हैं लालू। नीतीश कुमार ने हमेशा सकारात्मक राजनीति की है। बिहार का विकास उनका पहला लक्ष्य और आखिरी लक्ष्य है। लालू , आपका अपने परिवार का विकास सर्वोपरि है । यही वजह है कि आपके साथ साथ आपके परिवार वालो पर भी दर्जनों मुक़दमे दर्ज हो गए । आप तो जेल में है ही ।