ज्ञान की भूमि बिहार पुनर्जागरण के इस दौर में एक नए इतिहास का सृजन किया – नीरज

81
0
SHARE

पटना – बिहार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने जल-जीवन-हरियाली कार्यक्रम पर आयोजित मानव श्रृंखला के क्रम में अपने पैतृक शहर मोकामा नगरपरिषद के थाना चौक पर हिस्सा लिया । आयोजित राज्यव्यापी कार्यक्रम के विषय में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि ज्ञान की भूमि बिहार पुनर्जागरण के इस दौर में एक नए इतिहास का सृजन किया है। आज पूरे बिहार में लगभग 3 करोड़ 14 लाख लोगों की सहभागिता से 16 हजार 443 किलोमीटर की मानव श्रृंखला बनाएंगे, सिर्फ पटना जिला में 708 किलोमीटर जिसमें मोकामा में सबसे लंबा स्ट्रीट बना।

मानव श्रृंखला का उत्साह आम जनमानस में व्यापक रूप से दिख रहा है। बच्चे, महिला, वृद्ध, बीमार सभी स्वैच्छिक रुप से ह्यूमन चैन का हिस्सा बने। उम्मीद है शराबबंदी, बाल विवाह पर आयोजित मानव श्रृंखला की तरह इस बार भी बिहार गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होगा।

इसी क्रम में पर्यावरण प्रेमी तृतीय कक्षा की एक छोटी बच्ची को उदाहरणीय प्रतीक बताते हुए नीरज कुमार ने कहा कि मोकामा की बेटी श्रेशा ने अपने जन्मदिवस पर परिवार को वृक्षारोपण के लिए बाध्य कर एक नए पारिवारिक संस्कृति को विकसित किया है। हम उम्मीद करते हैं और शुभकामनाएं देते कि श्रेशा अपने पर्यावरणीय प्रेम से बिहार ही नहीं देश का ब्रांड एंबेसडर बनेगी ।

साथ ही साथ नीरज कुमार ने ट्वीट के जरिए तेजस्वी सहित विपक्ष की आज के क्रार्यक्रम से दूरी पर नसीहत देते हुए कहा – आपका राजनीतिक कुसंस्कार तो नरसंहार, अपराध, भ्रष्टाचार की श्रृंखला रही है। आपको पर्यावरण बाल-विवाह, दहेज प्रथा व नशामुक्ति अपच हो जाता है। अच्छा रहता आपके पिता रिम्स में खड़ा होते और समर्थक तिहाड़, बेऊर में ही आधा घंटा खड़ा रहते तो अपनी राजनीतिक पर्यावरण तो सुरक्षित कर लेते ।