टिन के शेड में यहां पांच कक्षाएं चलती हैं

668
0
SHARE
फारबिसगंज। बिहार के फारबिसगंज के एक सरकारी विद्यालय का हाल बेहाल है। यहां पढ़ाई के नाम पर नौनिहालों के भविष्य के साथ सिर्फ खिलवाड़ होता है।
फारबिसगंज नगर के वार्ड नम्बर २ के प्राथमिक विद्यालय की हालत बहुत ही दयनीय है, यहाँ बच्चों को पढ़ाने के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जाती है, स्कूल का अपना भवन तक नहीं है। बच्चे नीचे जमीन पर बैठ कर पढ़ाई करते हैं और टिन के एक ही  शेड के नीचे ५ क्लास चलते हैं।
यह विद्यालय यहाँ पर १९८८ से चल रहा है। २३ साल बीत जाने के बाद भी स्कूल बिना भवन के चल रहा है, पहले यहाँ पर बच्चों को पेड़ के नीचे बैठा कर पढ़ाया जाता था, बाद मे विकास मद् की राशि से टिन का एक शेड डाल कर कक्षा १ से ५ तक के बच्चों को एक ही कमरे में पढ़ाया जाता है। बच्चे अपने घरों से चटाई लाते हैं और नीचे बैठ कर पढाई करते हैं, स्कूल बारिश के दिनों में बन्द रहता है क्योंकि टिन के शेड  में चारों तरफ से बारिश का पानी आता है। विद्यालय में कुल 106  बच्चों का नामांकन है लेकिन 50 बच्चे ही स्कूल आते हैं, कभी जब ज्यादा बच्चे आ जाते हैं तो उन्हें विद्यालय के सामने ही एक पेड़ के नीचे बैठाया जाता है, इस बारे में विद्यालय के शिक्षकों का कहना है कि बच्चों को बैठने की जगह नहीं मिलती है इसलिए आधे से ज्यादा बच्चे स्कूल नहीं आते हैं। एक ही रूम में 5 क्लास चलने के कारण बच्चों को पढ़ते वक्त कुछ भी समझ में नही आता है क्योंकि काफी शोरगुल होता रहता है। विद्यालय के प्रिन्सिपल बताते हैं कि उन्होंने उच्चाधिकारियों को कई बार इस दिशा में कार्रवाई के लिए लिखा है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।
अधिकारियों की लापरवाही से बच्चों के शिक्षा के साथ जो खिलवाड़ हो रहा है उसके लिए सरकार को कदम उठाने की जरूरत है जिससे बच्चों को ढंग की शिक्षा मिल सके।