टुकड़ों-टुकडा़ें में औरत’ के मैथिली अनुवाद का लोकार्पण

417
0
SHARE

ममता मेहरोत्रा के कहानी-संग्रह ‘टुकड़ों-टुकडा़ें में औरत’ के मैथिली अनुवाद का पुस्तक मेला में हुआ लोकार्पण

पटना, 6 फरवरी 2017 – सोमवार को पटना पुस्तक मेला के भोजपुरी मुक्ताकाश मंच पर सुप्रसिद्ध कथा लेखिका श्रीमती ममता मेहरोत्रा के कहानी-संग्रह ‘टुकड़ों-टुकड़ों में औरत’ के कुमार उत्पल कृत मैथिली अनुवाद ‘शांति’ तथा डाॅ॰ सुजीत वर्मा की पुस्तक ‘सेन्ससनेश सेक्सूअलिटी एण्ड सालवेशन’ का लोकार्पण किया गया।

‘‘साईं सृजन प्रकाशन’’ के तत्वावधान में आयोजित इस पुस्तक लोकार्पण-समारोह को संबोधित करते हुए प्रो॰ सतीशचन्द्र झा ने कहा कि ममता मेहरोत्रा की कहानियों के मैथिली अनुवाद से मैथिली-साहित्य की श्रीवृद्धि हुई है। विशिष्ट अतिथि डाॅ॰ सुनील कुमार पाठक ने कहा कि ममता मेहरोत्रा की कहानियों में नारी-विमर्श के विभिन्न पक्षों को नया आयाम मिला है। उन्होंने ममता की कहानियों के कथा-रस के वैविध्य की चर्चा की। मुख्य अतिथि प्रो॰ शैलेश्वर सती प्रसाद ने कहा कि श्रीमती ममता की कहानियों में नारी-जीवन की त्रासदी एवं चुनौतियों का मार्मिक उल्लेख है।

कथा-लेखिका ममता मेहरोत्रा ने बताया कि उनकी कई पुस्तकें अंग्रेजी के साथ-साथ, क्षेत्रीय भाषाओं -मैथिली, भोजपुरी, मगही आदि में भी अनुवादित हो रही हैं।
कार्यक्रम में डाॅ॰ सुजीत वर्मा की पुस्तक की पठनीयता पर भी प्रकाश डाला गया। स्वागत-भाषण कुमार उत्पल एवं धन्यवाद-ज्ञापन श्री रघुवीर मोची ने किया।