ट्रिपल तलाक ने उजाड़ी गर्भवती नाजिया की जिंदगी

182
0
SHARE

गया- सुप्रीम कोर्ट के ट्रिपल तलाक के फैसले के बाद भी नहीं थम रहा है ट्रिपल तलाक का सिलसिला। मामला गया के मानपुर प्रखंड के अबगिल्ला जगदीशपुर निवासी नाजिया प्रवीण की है जिसकी शादी धूमधाम से वर्ष 2007 में हुयी थी। शादी के वक़्त से ही नाजिया को और उसके परिवार वालो को प्रताड़ित करने का सिलसिला शुरू हुआ, शादी के प्रीतिभोज के दिन ही परवेज आलम ने मोटरसाइकिल की मांग की थी। जिसे नाजिया के परिजनों ने पूरा भी किया फिर कुछ साल बाद 1 लाख रूपये की मांग की गयी। इसे भी नाजिया के परिवार वालो ने घर बेचकर अपने दामाद की मांग को पूरा किया, इस दरम्यान 3 बच्चे भी हो चुके थे।

लेकिन परवेज के द्वारा प्रताड़ित करने का सिलसिला थमा नहीं। इसी बीच परवेज सऊदी काम करने चला गया। इस बीच नाजिया और परवेज के परिजनों ने मिलकर आपसी समझौता किया फिर नाजिया ससुराल रहने लगी। इसी बीच नाजिया के साथ मारपीट करने लगे तो नाजिया अपने मायके आ गई। 5 महीने बाद जब परवेज सऊदी से गया आया तो नाजिया को लेने के लिए अपने ससुराल गया और नाजिया को अपने साथ घर ले आया और घर के दरवाजे पर ही परवेज ने तलाक तलाक तलाक कहकर तलाक दे दिया। यही नहीं इससे भी जी नहीं भरा तो परवेज से सादे कागज पर हस्ताक्षर करवाकर मारपीट कर घर से निकाल दिया। नाजिया अपने घर आयी जब बच्चे को अपने साथ रखने के लिए बोली तो उसे भी नहीं दिया। सभी बच्चो को परवेज अपने साथ रखा है, वह कहती है की वह अपने बच्चे से मिलने को बेचैन है। लेकिन पति मिलने नहीं दे रहा है।

वह बताती है की वह गर्भवती है ऐसे स्थिति में कहां जाए कैसे जीए, उसे यह चिंता सता रही है। अपने पति को सजा दिलाने को लेकर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। वहीं इस संबंध में मुफस्सिल थाना प्रभारी ने बताया की नाजिया प्रवीण के द्वारा लिखित आवेदन के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। अनुसंधान कर जो भी क़ानूनी कारवाई होगी वह किया जायेगा। 
WhatsApp Image 2017-11-14 at 10.34.17 AM

WhatsApp Image 2017-11-14 at 10.34.20 AM (1)

WhatsApp Image 2017-11-14 at 10.34.20 AM