डाक्टर और सरकार आमने-सामने

299
0
SHARE
33 लोगों की मौत हो गई। पर जवाबदेही लेने को कोई तैयार नहीं।  डाक्टरों ने अपने ऊपर हुए कार्रवाई के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है।
भासा के महासचिव डा0अजय कुमार ने कहा है कि पीएमसीएच की जो हालत है उसके लिए कौन जिम्मेदार है ये कहना मुश्किल है पर इस पर मुख्यमंत्री की चिंता और गुस्सा भी जायज है| उन्होंने आगे कहा कि लेकिन जब वे इसे अपने नजरिये से देखते हैं तब यह गलत मालुम होता है| उन्होंने कहा कि उन लोगों के पास इतनी शक्ति नहीं कि इसे सुधार सकें| हम लोगों के काम को देखते  हुए सजा नहीं प्रशंसा मिलनी चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हुआ| मुख्यमंत्री का गुस्सा अब ठंडा हो गया होगा| हम भविष्य में बेहतर काम करने की उम्मीद करते हैं और हमे पूरा विश्वास है कि मुख्यमंत्री हमारी भावना को समझेंगे और दंड को  वापस लेंगे। हमलोग समय का इंतजार कर रहे हैं और प्रधान सचिव और मुख्य सचिव  से बातचीत चल रही है। हमलोग नौकरी कर रहे हैं हमारे भी कुछ अधिकार हैं। सरकार अगर इस फैसले को वापस नहीं लेती है तब हम सरकार के निर्णय के खिलाफ जाएंगे।दूसरी तरफ  बिहार सीएम जीतन राम मांझी ने कहा है कि ये सरकार का फैसला है, डाक्टरों को जो फैसला लेना हैं, वे ले। सब जगह हम सुधार करेंगे।  हादसा की जांच कमिटी बनी है उसकी जांच रिपोर्ट आने ने आगे बात होगी। लापता  लोगों की खोज चल रही है।  अन्य कारण से लापता लोग यहां आकर बता देते हैं कि  मेरा आदमी लापता है उनको पांच लाख मिल जाए। इस सब की भी जांच हो रही है।
स्वास्थ्य मंत्री रामधनी सिंह ने कहा है कि  गलती पकड़ी गई तो मुख्यमंत्री ने तबादला किया। अब अगर भासा विरोध करता है, आंदोलन करता है, तो करे। मीडिया से उन्होंने कहा कि अगर उन्हें उनका साथ देना है, तो दे।
SHARE
Previous articleKozagra
Next articleNew Patna SSP Jeetendra Rana