तामझाम के बावजूद अमित शाह के आगमन पर लोगों के बीच कोई दिलचस्पी नहीं थी – राजद

103
0
SHARE

पटना – राजद के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राजद के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ0 रामचन्द्र पूर्वे ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के पटना आगमन पर राजद के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दिकी के आवास पर पुलिस तैनाती की तीखी आलोचना की है।

डाॅ0 पूर्वे ने कहा कि अमित शाह ना राष्ट्र के मुखिया हैं और ना सरकार के मुखिया हैं, फिर किस हैसियत से उनके स्वागत में सरकार के सारी मशीनरी को लगा दिया गया। उन्होने कहा कि हम जानना चाहते हैं कि प्रतिबंधित स्थानों पर किसकी अनुमती से उनके सम्मान में झंडा, बैनर और होर्डिंग लगाये गये। उनके स्वागत में जिस प्रकार पूरा सरकारी महकमा लगा हुआ था। वैसा पिछले दिनों महामहिम राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के पटना आगमन के समय भी नहीं हुआ था। इतने ताम-झाम के बावजूद अमित शाह के आगमन पर आम लोगों के बीच कोई दिलचस्पी नहीं थी।

उन्होंने कहा कि एक बात बहुत ही अजीब लग रहा था, भाजपा के लोग जिस प्रकार अमित शाह का चेहरा चमकाने का प्रयास कर रहे हैं। लग रहा है कि उनलोगों को यह बात समझ में आ चुकी है कि नरेन्द्र मोदी का आकर्षण अब समाप्त हो चुका है और उनके जगह पर अमित शाह ही नये चेहरे होंगे। राजद नेता ने कहा कि बिहार क्रांति की भुमि रही है और बिहार से ही भाजपा के खात्मे की शुरूआत होगी।

प्रधान महासचिव आलोक कुमार मेहता ने कहा कि अमित शाह को अपने बिहार दौड़े के क्रम में उन वादों के बारे में बताना चाहिए जिसे पिछले चुनावों के दौरान उन्होने बिहार की जनता के साथ किया था। पत्रकार सम्मेलन में प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, डाॅ0 उर्मिला ठाकुर एवं पटना महानगर अध्यक्ष महताव आलम सहित कई नेता उपस्थित थे।