तीसरा कृषि रोड मैप राज्य में इंद्रधनुषी क्रांति का करेगा मार्ग प्रशस्त -राजीव

178
0
SHARE

पटना – जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की दूरदर्शी पहल के रूप में सामने आया तीसरा कृषि रोडमैप बिहार के कृषि क्षेत्र में इंद्रधनुषी क्रांति का आगाज करेगा। प्रसाद ने कहा कि इससे खेतीबारी को नई ऊंचाइयाँ मिलेंगी और बिहार की प्रमुख उपज को विश्व बाजार में विशिष्ट स्थान मिलेगा। किसानों की आमदनी बढ़ेगी व गांवों की तरक्की होगी। आज बिहार का जर्दालु आम, कतरनी चूरा, मगही पान व मुजफ्फरपुर की लीची अपनी विशिष्ट पहचान के साथ विश्व बाजार को आकर्षित कर रहे हैं।

प्रसाद ने कहा कि यह बिहार के पक्ष में कोई दो दिनों में घटित हुआ परिणाम नहीं हैय अपने कार्यों और प्रयासों से बिहारी अस्मिता को नई प्रतिष्ठा व पहचान दिलाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की लगातार मेहनत का नतीजा हैं। प्रसाद ने कहा कि कृषि क्षेत्र में भारत की तरक्की का आगाज करने वाली हरित क्रांति के फायदों से वंचित रहे बिहार में नीतीश कुमार ने पहला कृषि रोडमैप तैयार करवाकर पहली बार खेती व किसानों को लेकर गंभीर पहल की।

उन्होंने कहा कि दो कृषि रोडमैपों की सफलता के बाद 2017-22 का तीसरा कृषि रोडमैप बिहार की खेतीबारी, गांवों और किसानों के समग्र व चैतरफा विकास को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है। अनुभवी किसानों व वैज्ञानिकों की सलाह पर विद्वान विशेषज्ञों द्वारा तैयार यह तीसरा कृषि रोडमैप बिहार के गांव, किसान और खेतीबारी की कायापलट करेगा।

प्रसाद ने कहा कि वह दिन दूर नहीं, जब हमारे गांवों में खुशहाली लहलहाएगी और गंगा के उपजाऊ मैदानों में हमारे अनुभवी किसानों के हाथों निकली उपज देश-दुनिया में नाम-दाम कमाएंगे।