तो दुल्हन, दूल्हा को लेकर जाएंगे

706
0
SHARE

चंपारण: बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बैरिया प्रखंड के तिलंगही गांव के मठ पर रात भर नृत्य संगीत के कार्यक्रम के बाद गुरुवार सुबह से ही दुल्हन एवं बाराती लड़के के दरवाजे पर अनशन पर बैठ गए हैं। तिलंगही गांव में आई अनोखी बारात, दुल्हन एवं बारातियों को देखने के लिए आस पड़ोस के गांवों के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है। लड़की गीता का कहना है कि अगर शादी नहीं होती है, तो वह न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाने से बाज नहीं आएगी।

दुल्हन गीता के साथ अनशन पर बैठने वाली बाराती महिलाओं में लड़की की भाभी, बड़ी बहन, रिश्तेदार और पड़ोसी शामिल हैं। लड़के की मां सुनीता देवी ने कहा कि वह शादी के लिए राजी है। लड़का आ जाए, तो शादी हो जाएगी।

आपको बता दें कि वर पक्ष के इनकार करने के बाद बुधवार को पूर्वी चंपारण के हरसिद्धि निवासी लालबाबू सहनी की पुत्री गीता कुमारी बारात लेकर लड़के के घर पहुंच गई थी। इसकी सूचना के बाद लड़का दीपक एवं उसके पिता केदार चौधरी फरार हो गए। इस वजह से बारात रात भर गांव के मठ पर टिकी रही।

इस दौरान रात में मठ पर नाच-गान का भी कार्यक्रम चला और बारातियों ने जमकर आनंद लिया। इधर, गुरूवार की देर शाम तक भी लड़का व उसके पिता फरार बताए गए हैं। गीता की बारात में आए उसके भाई नवल सहनी, लक्ष्मण सहनी एवं बहनोई दिलीप सहनी बारातियों के खिलाने-पिलाने के लिए लड़के के गांव में ही लंगर चलवा रहे हैं।